183 Views

लोेकसभा चुनाव में प्रत्याशियों के खर्च पर रहेगी प्रशासन की कड़ी नजर


                                                           पार्टी व प्रत्याशी की गतिविधियों पर नजर रखने के लिए चार टीमें गठित


                                     अपने कार्यों को ईमानदारी से करते हुए शत प्रतिशत मतदान के लक्ष्य को करें पूरा: उपायुक्त 

मेेदिनीनगर: लोकसभा चुनाव के लिए बनी असिस्टेंट एक्सपेंडिचर आबजर्वर, वीडियो सर्विल्लेंस टीम, वीडियो व्युविंग टीम, अकांउटिंग टीम, उड़नदस्ता तथा स्टेटिक सर्विल्लेंस टीम के पदाधिकारियांे को आज समाहरणालय के ब्लाॅक ‘सी’ में आयोजित शिविर में प्रशिक्षण दिया गया। इस अवसर पर जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह उपायुक्त डाॅ. शांतनु कुमार अग्रहरि ने प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे पदाधिकारियों को पूरी निष्ठा व ईमानदारी के साथ चुनाव संबंधि अपने दायित्वों को पूरा कर सत प्रतिशत मतदान कराने के लक्ष्य पर खरा उतरने का आह्वान किया। इस दौरान उन्होंने सभी टीमों से उनके कार्याें का विवरण लेते हुए उनका कार्यभार उन्हें सौंपा। बताया गया कि भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार असिस्टंेट एक्सपेंडिचर आॅबजर्वर का मुख्य कार्य चुनाव अभियान अवधि में संकलित साक्ष्य को लेखा व्यय प्रेक्षक के समक्ष अभ्यर्थियों की पंजी जांच के समय प्रस्तुत करना है। यदि किसी साक्ष्य को छुपाया जा रहा है तो उसे व्यय लेखा प्रेक्षक के संज्ञान में लाने का कार्य भी एक्सपेंडिचर आॅबजर्वर के दस्ते का होगा। इसके अलावे व्यय लेखा कार्यों से संबंधित दलों के साथ समन्वय स्थापित कर यह सुनिश्चित करना होगा कि अभ्यर्थियों के प्रतिदिन के व्यय लेखा पंजी में सही व्यौरा दिया जा रहा है। बताया गया कि वीडियों सर्विल्लेंस टीम एवं वीडियों व्युविंग टीम का कार्य अभ्यर्थियों के कार्यक्रम के दौरान दिये जाने वाले भाषण एवं अन्य किसी प्रकार की घटना को रिकाॅर्डिंग करना होगा ताकि उन घटनाओं की माॅनेटरिंग हो सके। इसके अलावे प्राप्त सीडी को प्रतिदिन देखना तथा व्यय एवं आचार संहिता उल्लंघन आदि के मामलों को अकाउंटिंग टीम तथा असिस्टेंट एक्सपेंडिचर आॅबजर्वर को उपलब्ध कराने का काम भी उक्त दोनों टीमों को करना होगा। प्रशिक्षण में जानकारी दी गई कि अकाउंटिंग एवं टीम असिस्टेंट एक्सपेंडिचर आॅबजर्वर के नियंत्रण में कार्य करेगा। इसका मुख्य दायित्व साक्ष्यों की संचिका तैयार करना होगा। जबकि उड़नदस्ता टीम को अवैध धनराशि तथा संदेहास्पद सामानों का विरतण किये जाने पर रोक लगाते हुए निर्वाचन की पवित्रता को बरकरार रखने का दायित्व सौंपा गया है। उपायुक्त ने बताया कि सभी विधानसभा क्षेत्रों में तीन-तीन स्टेटिक सर्विल्लेंस टीम का गठन किया गया है। यह टीम चेकनाका पर तैनात रहकर जांच करेगा और अवैध हथियार के साथ असमाजिक तत्वों की पहचान कर उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने का कार्य करेगा। इसके अलावे एक्सपेंडिचर कम्पलेन माॅनेटरिंग एवं काॅल सेंटर की भी स्थापना की गई है। जिसके माध्यम से सभी दलों के साथ समन्वय स्थापित कर कार्याें का संचालन सुचारू रूप से किया जा सकेगा। प्रशिक्षण में उपायुक्त के अलावे उपविकास आयुक्त बिन्दु माधव प्रसाद सिंह, व्यय शाखा के नोडल पदाधिकारी राजेश कुमार एवं मीडिया कोषांग के नोडल पदाधिकारी सह कार्यपालक दंडाधिकारी सुधीर कुमार समेत उपरोक्त टीमों से जूड़े पदाधिकारी उपस्थित थे।