1882 Views

भाजपा कोडरमा लोकसभा सीट पर राजद की प्रदेश अध्यक्ष अन्नपूर्णा देवी के सहारे

केन्द्रीय नेत्तृव के आमंत्रण पर राजद नेत्री पहुंची दिल्ली

 झारखंड के 14 में 1 लोकसभा सीट गिरिडीह को आजसू को देने के बाद अब 13 सीटों पर प्रत्याशी उतारने को लेकर भाजपा के केन्द्रीय चुनाव समिति लगातार माथापच्ची कर रही है। राजनीतिक दृष्टिकोण से कोडरमा सीट भी काफी चर्चा में है। जहां से वर्तमान में भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष डॉ रविन्द्र कुमार राय सांसद है। हालांकि सूत्रों की मानें तो इस बार श्री राय का टिकट कटने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है।

वहीं दूूसरी ओर भाजपा कोडरमा लोकसभा सीट पर राजद की प्रदेश अध्यक्ष अन्नपूर्णा देवी के सहारे कमल खिलाने की जुगत में लग गई है। अंदरखाने से निकलकर आ रही जानकारी के अनुसार भाजपा की केन्द्रीय नेतृत्व ने अन्नपूर्णा को याद किया है। जिसके बाद राजद नेत्री दिल्ली कूच कर गई है। हालांकि कोडरमा लोस से भाजपा किसे टिकट देती है यह तो पार्टी स्तर पर घोषणा होने के बाद ही पता चल पायेगा।

कोडरमा लोस पर त्रिकोणीय मुकाबला होना तय

इस बार भी कोडरमा लोस सीट में त्रिकोणीय मुकाबला होना तय है, क्योंकि महागठबंधन के साझा प्रत्याशी स्वयं झाविमो सुप्रीमो बाबूलाल मरांडी हैं। जबकि दूसरी तरफ भाकपा माले से धनवार के वर्तमान विधायक राजकुमार यादव भी प्रत्याशी हो सकते हैं। वहीं भाजपा से वर्तमान सांसद डाॅ रवीन्द्र राय सहित कई दावेदार हैं। ऐसे में भाजपा केन्द्रीय नेतृत्व काफी सोच समझकर प्रत्याशी उतारने पर गहण मंथन कर रही है।

अन्नपूर्णा के दिल्ली जाने से अन्य दावेदारों में मची खलबली

भाजपा केन्द्रीय नेत्तृव के आंमत्रण पर राजद की प्रदेश अध्यक्ष सह पूर्व विधायिका अन्नपूर्णा देवी के शनिवार की सुबह दिल्ली जाने की सूचना ने वर्तमान सांसद राय समेत कई दावेदारों और कोडरमा लोस क्षेत्र में खलबली मचा दी है। हालांकि टिकट के दावेदारों में डाॅ राय के अलावे प्रणव वर्मा, सूबे की शिक्षा मंत्री डॉ नीरा यादव के नाम शामिल है। लेकिन सूत्रों की मानें तो राजद की प्रदेश अध्यक्ष अन्नपूर्णा देवी पिछले कुछ दिनों से रांची में ही डेरा डाले थी। शुक्रवार की देर रात केन्द्रीय नेत्तृव के बुलावे के बाद उनके शनिवार की सुबह दिल्ली जाने की सूचना है। वैसे इसकी पुष्टि के लिए जब राजद प्रदेश अध्यक्ष अन्नपूर्णा देवी से संपर्क करने का प्रयास किया गया, तो उनका   व  उनके पीए का मोबाइल नंबर भी लगातार स्वीच ऑफ मिला।

एमवाई समीकरण के बदौलत कोडरमा में रहा है अन्नपुर्णा का दबदबा

सूत्रों की मानें तो कोडरमा से चुनाव लड़ने के लिए राजद प्रदेश अध्यक्ष अन्नपूर्णा देवी ने भाजपा केन्द्रीय नेत्तृव के समक्ष बड़ी शर्त रखी है। जिस पर भाजपा के सहमति मिलने की जानकारी मिल रही है। बहरहाल, अगर सूचना सही हुई तो राज्य में राजद को जबरदस्त झटका लग सकता है। क्योंकि जातीय समीकरण को गोलबंद करते हुए साल 1998 में कोडरमा विस उपचुनाव में जीत दर्ज कराने के बाद अन्नपूर्णा देवी लगातार 2004 और 2009 में चुनाव जितती रही है। एमवाई समीकरण के आधार पर अन्नपूर्णा देवी जीत की हैट्रिक लगाती रही है।

यादव, कुर्मी व वैश्य वोटर को गोलबंद करने के प्रयास में भाजपा

यादव और अल्पसंख्यक वोटरों में अन्नपूर्णा देवी के दबदबे को देखते हुए भाजपा अन्नपूर्णा देवी को कोडरमा लोस से चुनाव लड़ाकर फतह करने की फिराक में है। साथ ही भाजपा यादव के साथ-साथ वैश्य और कुर्मी वोटरों को गोलबंद करने के प्रयास में भी है। इसके पीछे की वजह कुर्मी वोटरों की संख्या पूरे लोस क्षेत्र में करीब ढाई लाख है। जबकि वैश्य वोटरों की संख्या सवा दो लाख के करीब है। इसके बाद तीसरे स्थान पर यादव सवा लाख तो चौथे स्थान पर अगड़ी जाति के भूमिहार वोटरों की संख्या करीब 80 से 90 हजार बताई जा रही है