184 Views

बराही गांव में पंचंम सिंह के घर पर श्री श्री ठाकुर अनुकूल चंद्र जी का मासिक सत्संग हुआ

पलामू एस के चंदेल हुसैनाबाद  ।हुसैनाबाद के बराही गांव में पंचंम सिंह के घर पर  श्री श्री ठाकुर अनुकूल चंद्र जी का मासिक सत्संग हुआ संपन्न ।और पांच व्यक्तिओ को ठाकुर जी का नाम दिया गया ।मौके पर उपस्थित थे मेदीनीनगर चलकर आये श्रृत्विक धर्मेन्द्र नारायण सिन्हा ने सत्संग कार्य क्रम की अध्यक्षता किया जबकि संचालन जपला सत्संग के अध्यक्ष एस के चंदेल ने की ।सत्संग कार्य क्रम को संबोधित करते हुए श्रृत्विक धर्मेन्द्र नारायण सिन्हा ने बताया कि हमलोग आज एक ऐसे पुरुषोत्तम से जुड़े हैं जो हमलोगों को बचने बढ़ने की विधि बताया है उन्होंने आगे कहा कि हमलोगों को सत्संग का आश्रय जरूर ग्रहण करना चाहिए  ।सत्संग से हमें ज्ञानयोग से बुधि मिलती है। सत्संग पाकर मनुष्य परम वैभव को प्राप्त करता है। सद्गुरु की कृपा से ही विकास संभव है। सत्संग ही मौत को मोक्ष में बदलने की कला सिखाता है, हार को जीत में बदलने की कला सिखाता है। कर्म को भक्ति में और भक्ति को कर्म में लगाओ। गलत संगति से विनाश होता है। संत संगति से सत्संग मिलता है। गुरुमंत्र जीव और ईश्वर के बीच संबंध जोड़ने वाली कड़ी है। मंत्र दीक्षित साधक जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में सफलता प्राप्त करता है। दीक्षा के बाद जीव को नवजीवन मिलता है। गुरु के सत्संग से आत्मसाक्षात्कार होता है। आत्मा अमर है। शरीर पहले भी नहीं था और आगे भी नहीं रहेगा। उन्होंने आगे कहा कि सत्संग में आने से पुण्य मिलता है। दीक्षित साधक कभी दुखी नहीं होता। सामाजिक जीवन में सफलता हेतु किसी की निंदा न करें। साथ ही दूसरों के सुख से दुखी न हों। एक-दूसरे के प्रति निंदा, ईर्ष्या एवं द्वेष से बचें।सत्संग में मुख्य रूप से शशि कुमार ' रंजना बहन ' सुरेन्द्र चौधरी ' कृष्णा पंडित ' राम राज प्रसाद ' शिवकुमार प्रसाद ' नितिन  कुमार 'चमेली बहन अंजू बहन आदि सैकड़ों गुरु भाई बहन थे उपस्थित ।धार्मिक ग्रंथों का पाठ तथा भजन कीर्तन किया गया ।