365 Views

राजद के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष गिरिनाथ ने भी राजद से नाता तोड़ा, पार्टी ने 6 वर्ष के लिये किया निष्काशित।

राजद के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष गिरिनाथ ने भी राजद से नाता तोड़ा, पार्टी ने 6 वर्ष के लिये किया निष्काशित।

रांचीः झारखंड आरजेडी में उठा तूफान थमने का नाम नही लेरहा है. पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष गिरिनाथ सिंह ने भी राजद का दामन छोड़ दिया है। इससे पहले पार्टी की प्रदेश अध्यक्ष अन्नपूर्णा देवी ने भी पार्टी छोड़ दी है. उन्होंने दिल्ली में पूर्व विधायक जनार्दन पासवान के साथ बीजेपी की सदस्यता ग्रहण की. जानकारी के अनुसार महागठबंधन में उचित स्थान नहीं मिलने और पार्टी में लगातार उपेक्षा से नेताओं में नाराजगी थी .उधर राष्ट्रीय जनता दल ने गिरिनाथ सिंह को भी 6 वर्ष के लिए पार्टी से निकाल दिया है. अन्नपूर्णा देवी और जनार्दन पासवान के भाजपा का दामन थामने के बाद गिरिनाथ सिंह भी पार्टी से इस्तीफा देने की तैयारी में थे. लेकिन इससे पहले ही बिहार में राष्ट्रीय जनता दल के प्रदेश महासचिव सह एमएलसी कमर-ए-आलम ने गिरिनाथ सिंह पर अनुशासनात्मक कार्रवाई करते हुए उन्हें 6 साल के लिए पार्टी से निष्कासित करने का पत्र जारी कर दिया. माना जा रहा है कि गिरिनाथ सिंह भाजपा से चतरा सीट के लिए बारगेनिंग कर रहे थे. राजद की ओर से उनके निष्कासन के पत्र की सूचना मिलते ही गिरिनाथ सिंह ने भी पार्टी से इस्तीफा देने की घोषणा कर दी. हालांकि उन्होंने स्पष्ट तौर पर यह नहीं कहा कि वह भाजपा में शामिल होने जा रहे हैं. गिरिराज सिंह राजद के टिकट पर विधायक भी रहे हैं और पार्टी ने उन्हें झारखंड की कमान भी दी थी. लेकिन सीट को लेकर पार्टी से नाराज चल रहे गिरिनाथ सिंह पाला बदलने की तैयारी में थे. उन्होंने भाजपा में जाने या नहीं जाने पर कोई टिप्पणी भी नहीं की है। देखना ये है कि गिरिनाथ सिंह का अगला कदम क्या होगा। राजनीतिक हलकों में इसे लेकर तरह तरह के कयास लगाये जारहे हैं।