436 Views

अब राजनीति में योग्यता और पृष्ठभूमि काफी अहम हो चला है

अब राजनीति में योग्यता और पृष्ठभूमि काफी अहम हो चला है.जंयत और ज्योतिरीश्वर 

रांची-अब राजनीति में योग्यता और पृष्ठभूमि काफी अहम हो चला है. वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में  टिकट तय करने में खास तौर पर भाजपा इस पर विशेष तौर पर ध्यान दे रही है क्योकि भाजपा इसके माध्यम से यह संदेश देना चाह रही है  वह न सिर्फ़ देश की सुरक्षा  और सम्मान पर फोकस कर रही है बल्कि प्रत्याशी चयन के माध्यम  से यह भी बताने की कोशिश कर रही है. वह कैसा राजनीति वातावरण बनाने में यकीन रखती है. ताकि जब लोग वोट का मन बनाये तो मोदी के नाम साथ साथ  प्रत्याशी का भी चेहरा ऐसा हो जिससे स्वीकार करने में आमजन को  परेशानी न हो वैसे आज के दौर में देखे  तो युवा की भूमिका काफी महत्वपूर्ण हो चला है इसलिए वह अपने प्रतिनिधि से यह अपेक्षा रखता है वह अपडेट हो, भाजपा भी मानस के इस नब्ज को पकड रही है, यही कारण है कि तमाम विरोध को दरकिनार कर पलामू संसदीय क्षेत्र   से पूर्व डीजीपी बीडी राम को ही प्रत्याशी बनाया, पिता यशवंत सिन्हा मोदी विरोधी कैंपन चला रहे है उसके बाद भी जंयत सिन्हा को हजारीबाग से टिकट मिला यदि हम इसे राजनीति नजरिये से देखे तो इन प्रत्याशियों को टिकट दिलाने में इनकी व्यक्तिगत योग्यता भी काम आयी क्योकि ऐसी प्रत्याशियों का चयन राजनीति बदलाव का भी संकेत दिया जाता है, ऐसे में एक नाम चतरा संसदीय क्षेत्र  से भाजपा किसान मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष ज्योतिरीश्वर सिंह का भी चल रहा है, सूत्रों के अनुसार श्री सिंह चतरा से भाजपा के टिकट के प्रबल दावेदार में चल रहे है देखा जाये तो व्यक्तिगत योग्यता के मामले में ज्योतिरीश्वर सिंह काफी मजबूत है लंबे समय से राजनीति में है, जंयत सिन्हा की तरह ही विदेशों में पढे है, ऐसे में जंयत के बाद यदि भाजपा चतरा में ज्योतिरीश्वर के नाम पर मुहर लगाकर संदेश दे भी सकती है, वैसे मोदी है तो मुमकिन है के दौर में पार्टी के अंदर कुछ भी हो सकता है, वैसे अभी भी चतरा संसदीय क्षेत्र का पेंच फंसा है इस बीच सूचना आ रही है मंगलवार की  रात राजद के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष गिरिनाथ सिंह दिल्ली के लिए रवाना हो गये है, बुधवार को वह दिल्ली में भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर सकते है ऐसे में आगे यह देखना दिलचस्प  होगा की चतरा की बाजी किसके हाथ में होगी. चतरा के अलावा कोडरमा और रांची में भी प्रत्याशी के नाम का एलान होना बाकी है कोडरमा से राजद की प्रदेश अध्यक्ष अन्नपूर्णा देवी भाजपा में शामिल हो चुकी है और गिरिनाथ की तैयारी है ऐसे राजनीति के स्तर पर जो सवाल है वह यही है आखिर कट्टर भाजपा विरोधी के साथ राजनीतिक धुरंधर जब भाजपा की पीच पर अपनी राजनीति पारी की नयी शुरुआत करेगे तो पुराने और समर्पित भाजपाई इन्हे कितना स्वीकार कर पायेगे यह सवाल भी अहम है ऐसे में पार्टी इस पहलू पर भी गौर करेगी इसलिए भाजपा को फैसले लेने में देर हो रही है इसलिए यह कयास लगाया जा रहा तब चतरा से सुनील सिंह का टिकट काटकर  भाजपा ज्योतिरीश्वर सिंह के नाम मुहर लगा सकती है. आने वाले कुछ घंटे झारखंड भाजपा की राजनीति के लिए काफी महत्वपूर्ण है