872 Views

घूरन राम को पलामू से राजद के उम्मीदवार बनाने से कार्यकर्ता बगावत के मूड

       झारखंड प्रदेश राजद में भूचाल थमने का नाम ही नही ले रहा है। पहले अन्नपूर्णा देवी पार्टी छोड़ कर भाजपा का दामन थामी।            

            रिपोर्ट- विशु विशाल।                                        रांची। झारखंड प्रदेश राजद में भूचाल थमने का नाम ही नही ले रहा है। पहले अन्नपूर्णा देवी पार्टी छोड़ कर भाजपा का दामन थामी। तो गुरुवार को गरिनाथ सिंह भी भाजपा के हो गए। अब पलामू के कार्यकर्ता धनंजय पासवान के समर्थन में खुलकर मैदान में उतर गए है। पलामू जिला के ज्यादातर कार्यकर्ता घूरन राम को उम्मीदवार बनाने से नाराज है। इस निर्णय के खिलाफ बगावत के मूड में है। जिला कार्यकर्ता और पदाधिकारियों का कहना है कि घूरन राम भाजपा और आरएसएस की राजनीति करते आये है। ऐसे में उसे पार्टी में शामिल कराकर टिकट देना कहीं से उचित नही है। जबकि धनंजय पासवान पार्टी के समर्पित कार्यकर्ता है। ऐसे में अगर केंद्रीय नेतृत्व कार्यकर्ताओं की भावना का खयाल नहीं करता है तो सभी लोग सामूहिक इस्तीफा दे देंगे। कार्यकर्ताओ की इस बगावती रुख को भांपते हुए प्रदेश पदाधिकारी और पलामू के कई कार्यकर्ता राबड़ी देवी से मिलने पटना पहुंचे है। इनलोगों का कहना है कि पलामू के उम्मीदवार पर केंद्रीय नेतृत्व पुनर विचार करे। इस विरोध का नेतृत्व गढ़वा जिला अध्यक्ष सरीफ अंसारी कर रहे है। उन्होंने कहा कि घूरन राम अल्पसंख्यकों के खिलाफ कई मौके पर जहर उगला है। इसके बावजूद उसे टिकट दिया गया तो कार्यकर्ता कैसे बर्दास्त करेगा। वहीं विरोध करने वालो में पलामू जिला अध्यक्ष शंकर यादव, गढ़वा के पूर्व जिला अध्यक्ष अदमली अंसारी, युवा अध्यक्ष सूरज सिंह, नोहडीह प्रखंड अध्यक्ष मोहन विश्वकर्मा, छतरपुर प्रखंड अध्यक्ष अनिल यादव, पंडवा प्रखंड अध्यक्ष रमाकांत मेहता, सूर्यनारायण यादव, महाबीर चंद्रवंसी, अशोक यादव, संजय सिंह और हंस राज यादव सहित जिला के लगभग प्रकोष्ठों के कई पदाधिकारी शामिल है।