239 Views

चोरी कर बालू लाते नौ गिरफ्तार-सात ट्रैक्टर बालू जब्त

चोरी कर बालू लाते नौ गिरफ्तार-सात ट्रैक्टर बालू जब्त 


डालटनगंज 31 मार्च : हजारों-लाखों कमाने की ललक में हर दिन नदियों से अंधाधुंध बालू का अवैध उठाव हो रहा है. छोटे से लेकर बड़े बालू माफिया इस गोरखधंधे में शामिल हैं. ऐसे में नदियों का आस्तित्व जहां बिगड़ते जा रहा है, वहीं राजस्व की भारी चोरी हो रही है. पलामू जिले के कई इलाकों में यह धंधा बेरोकटोक जारी है, लेकिन जिले के कुछ ऐसे भी पुलिस अधिकारी हैं, जो इस धंधे पर नियंत्रण के लिए प्रयासरत हैं. 
छत्तरपुर में प्रशिक्षु आईपीएस ने की कार्रवाई
छत्तरपुर के थाना प्रभारी और प्रशिक्षु आईपीएस विनीत कुमार ने उदयगढ़ मोड़ पर कार्रवाई कर नौ तस्करों को गिरफ्तार किया है. साथ ही सात ट्रैक्टरों में भरे बालू को भी जब्त किया है. थाना प्रभारी ने बताया कि गुप्त सूचना मिली थी कि उदयगढ़ पंचायत के भंडारडीह स्थित बटाने नदी से बड़े पैमाने पर बालू का उठाव किया जा रहा है और उसकी तस्करी की जा रही है. सूचना पर कार्रवाई की गयी और नदी से बालू लेकर आ रहे एक साथ सात ट्रैक्टरों जेएच01जे 8607, जेएच 19बी 0958, जेएच 03क्यू 4937, सीजी 10डीए 2983 और तीन बिना नंबर के ट्रैक्टरों को जब्त किया गया.
इनकी हुई गिरफ्तारी
प्रशिक्षु आईपीएस ने बताया कि गिरफ्तार तस्करों में ढाब-उदयगढ़ निवासी आनन्द कुमार यादव, कउवल के विमलेश राम, मसिहानी के ललन कुमार सिंह और सुमंत कुमार सिंह, भंडारडीह के सुनील कुमार यादव और नरेश यादव, बारा के विष्णु राम, कचनपुर के सुदय ठाकुर शामिल हैं. थाना प्रभारी ने कहा कि बालू के अवैध खनन एवं परिवहन के सिलसिले में एमएमडीआर एक्ट, झारखंड लघु खनिज समानुदान नियमावली-2004 और झारखंड मिनरल रूल 2017 में स्पष्ट उल्लेख है, जो अपराधी की श्रेणी में आता है. ऐसे में इनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जायेगी.  
डीएमओ से कड़ी कार्रवाई करने का आग्रह 
प्रशिक्षु आईपीएस ने प्राथमिकी दर्ज कर सारे तस्करों को न्यायिक हिरासत में भेजने के साथ-साथ जिला खनन पदाधिकारी मनोज टोप्पो से तस्करों के खिलाफ बालू के अवैध खनन कर परिवहन करने, सरकारी राजस्व की चोरी करने, राजस्व का नुकसान करने के बावत भारतीय दंड विधान की धारा 379, धारा 34, धारा 414 एवं अन्य सुसंगत धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज करते हुए ठोस कानूनी कार्रवाई करने का आग्रह भी किया है. ताकि ऐसे धंधे पर पूणर्तः लगायी जा सके.