263 Views

चुनाव आयोग ने एडीजी अनुराग गुप्ता को झारखंड से हटाया, चुनाव तक आने की अनुमति नहीं

चुनाव आयोग ने एडीजी अनुराग गुप्ता को झारखंड से हटाया, चुनाव तक आने की अनुमति नहीं

रांची, 

झारखंड पुलिस की विशेष शाखा के अपर पुलिस महानिदेशक अनुराग गुप्ता को हटा दिया गया है। वे दिल्ली में झारखंड के स्थानिक आयुक्त के कार्यालय में योगदान देंगे। भारत निर्वाचन आयोग ने सोमवार को यह कार्रवाई की है। आईपीएस अधिकारी अनुराग गुप्ता पर 2016 के राज्यसभा चुनाव में भाजपा प्रत्याशी के पक्ष में काम करने का आरोप लगा था। 

आयोग ने अनुराग गुप्ता को झारखंड में 18 घंटे रहने की भी मोहलत नहीं दी है। उन्हें दो अप्रैल को एक बजे दिन तक दिल्ली में झारखंड के स्थानिक आयुक्त कार्यालय में रिपोर्ट करना होगा। लोकसभा चुनाव की प्रक्रिया पूरी होने तक उन्हें झारखंड आने की इजाजत नहीं होगी। वे छुट्टी या किसी ड्यूटी के बहाने भी यहां नहीं आ सकेंगे। झारखंड सरकार को एक अप्रैल की रात 10 बजे तक कार्रवाई आदेश को लागू करने के लिए कहा गया।

    चुनाव आयोग के आदेश पर दर्ज हुई थी प्राथमिकी

अनुराग गुप्ता के खिलाफ कार्रवाई का चुनाव आयोग का आदेश सोमवार को आया है,लेकिन  उनके खिलाफ प्राथमिकी के लिए आयोग ने महीनों पहले कहा था। राज्य सरकार ने भी मामले की  जांच का आदेश दिया था। विपक्षी नेताओं के ज्ञापन के बाद चुनाव आयोग ने इसकी सुनवाई शुरू की थी। नेताओं का बयान दर्ज करने आयोग की टीम रांची भी पहुंची। विधायक निर्मला देवी मुख्य आवेदक होने के बावजूद बयान दर्ज कराने नहीं पहुंची।

विधायक निर्मला देवी के पति पर था  दबाव देने का आरोप

कांग्रेस विधायक निर्मला देवी के वोट के लिए उनके पति योगेंद्र साव को अनुराग गुप्ता द्वारा प्रलोभन व दबाव बनाने की कथित ऑडियो सीडी विपक्ष सामने लाया था। झाविमो सुप्रीमो बाबूलाल मरांडी ने ऐसी दो सीडी जारी की थी। इसमें 2016 के 10-11 जून को अनुराग गुप्ता के योगेंद्र साव  से दो दर्जन बार बात का दावा  था। चुनाव में भाजपा के मुख्तार अब्बास नकवी और महेश पोद्दार जीते थे। 

              देर रात जारी हुई अधिसूचना

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने चुनाव आयोग के पत्र को गृह विभाग को  ज दिया। गृह विभाग ने  गुप्ता के खिलाफ कार्रवाई कर आयोग को अवगत कराया। आयोग की ओर से इसकी मियाद एक अप्रैल 10 बजे रात तक रखी गई थी। गृह विभाग ने देर रात इस संबंध में अधिसूचना जारी कर दी।  

               आयोग से मिले थे सिब्बल

आपत्ति के बाद भी गुप्ता को एडीजी बनाए रखने के खिलाफ सोमवार को कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने मुख्य निर्वाचन आयुक्त से मुलाकात की। इनके साथ अभिषेक मनु सिंघवी और झारखंड प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी आरपीएन सिंह भी थे। मुख्य निर्वाचन आयुक्त ने कांग्रेस नेताओं को जल्द कार्रवाई का आश्वासन दिया था।