404 Views

अपहृत महिला का नरकंकाल पुलिस ने किया बरामद, बच्चे का पता नहीं

अपहृत महिला का नरकंकाल पुलिस ने किया बरामद, बच्चे का पता नहीं

पलामू- हुसैनाबाद थाना क्षेत्र अंतर्गत उर्दवार गांव स्थित अपने ससुराल से गत 22 मार्च को लापता 23 वर्षीया संध्या देवी का नरकंकाल पुलिस ने बरामद किया। उसके बच्चे का कुछ पता नहीं चल पाया है. महिला के पति सिद्धेश्वर पासवान ने गत 23 मार्च को पत्नी व साढे तीन साल के बच्चे ऋषि कुमार के अपहरण का मामला हुसैनाबाद थाना में दर्ज कराया था. इसमें संध्या के प्रेमी गौतम पासवान सहित तीन अन्य लोगों पर अपहरण करने का आरोप था. मुख्य आरोपी गौतम पासवान को गिरफ्तार कर पूछ ताछ के क्रम में उसकी निशानदेही पर पीपरा थाना क्षेत्र के सरैया पंचायत अंतर्गत बनकटवा गांव के समीप झरना पहाड़ की तराई में दफन महिला संध्या देवी का नरकंकाल बरामद किया गया। मृतक संध्या देवी के पति सिद्धेश्वर पासवान बाहर में रहकर काम करता था जबकि  मुख्य आरोपी  पड़ोसी गौतम व संध्या के बीच पूर्व से ही प्रेम-प्रसंग चल रहा था. इसी बीच गत 13 मार्च को गौतम की शादी रोहतास जिला में हो गयी। हुसैनाबाद के डीएसपी विजय कुमार ने बताया कि मामले में कार्रवाई की जा रही थी. इसी दौरान मुख्य आरोपी गौतम पासवान को गिरफ्तार किया गया। गौतम की निशानदेही पर पीपरा थाना क्षेत्र के सरैया पंचायत अंतर्गत बनकटवा गांव के समीप झरना पहाड़ की तराई में दफन महिला संध्या देवी का नरकंकाल बरामद किया गया। गौतम ने पूछताछ के दौरान बताया कि उसकी शादी से संध्या गुस्से में थी। वह 23 मार्च को आत्महत्या कर ली। चूकि उनके बीच प्रेम-प्रसंग चल रहा था, इसलिए मामले में किसी तरह की परेशानी ना हो, उसने शव को पीपरा इलाके में ले जाकर संचार केबुल ले जाने के लिए खोदे गए गड्ढे में दफन कर दिया। डीएसपी विजय कुमार ने बताया कि मामले में अनुसंधान किया जा रहा है। गौतम के बयान में कितना दम है, इसका खुलासा जांच के बाद ही हो पाएगा। यह पूछे जाने पर संध्या के बच्चे का कुछ अता-पता नहीं चला। उन्होंने बताया कि इसका भी पता लगाया जा रहा है। गत 30 मार्च को बिहार के चुटिया थाना क्षेत्र के तिउरा गौतम के ससुराल क्षेत्र से संध्या देवी के अपहरण में उपयोग की गयी स्कार्पियो भी बरामद की गयी है। नरकंकाल बरामद करने के समय हुसैनाबाद डीएसपी विजय कुमार, दंडाधिकारी पीपरा के बीडीओ देवेंद्र कुमार, हुसैनाबाद के थाना प्रभारी रासबिहारी लाल, पीपरा थाना प्रभारी महानंद सुरीन, एएसआई जितेंद्र कुमार, उपेंद्र पासवान, शिबू कुजुर और पुलिस जवान  मौजूद थे।