टाटा स्टील, नोआमुंडी में किसान सम्मेलन “वार्ता“ का आयोजन , जैविक खेती में भविष्य पर की गयी चर्चा


संतोष वर्मा। क्षेत्र के किसानों के समग्र विकास को बढ़ावा देने की दिशा में  में टाटा स्टील ने स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स, नोआमुंडी में किसान सम्मेलन ‘‘वार्ता’’ का आयोजन किया।  श्री अनुपम नंदी, क्षेत्रीय खान नियंत्रक, इंडियन ब्यूरो ऑफ माइन्स (आईबीएम), रांची प्रक्षेत्र इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में श्री पंकज सतीजा, जीएम, ओर, माइंस ऐंड क्वैरीज (ओएमक्यू) डिवीजन, टाटा स्टील और श्री देवदूत मोहंती, हेड, सीएसआर-झारखंड ऐंड न्यू प्रोजेक्ट्स, टाटा स्टील के साथ उपस्थित थे। 


इस साल किसान सम्मेलन का विषय ‘‘जैविक अपनायें, स्वस्थ रहें“ है और जैव-उर्वरक, जैव कीटनाशकों, सूखे क्षेत्रों में कृषि, पशुपालन और लाह की खेती पर क्षेत्र के किसानों के बीच जागरूकता बढ़ाना इसका लक्ष्य है। झारखंड और ओडिशा के 200 से अधिक किसान इस वर्ष के किसान सम्मेलन में अपने अनुभवों को साझा करने और खेती में नए तरीके सीखने के लिए एकत्र हुए हैं।


आज जैव-उर्वरक और पशुपालन के महत्व पर दो कार्यशालाएं आयोजित की गईं। डॉ संजय सारथी, वैज्ञानिक, कृषि विज्ञान केंद्र, पश्चिम सिंहभूम ने किसानों के साथ बातचीत करते हुए जैव-उर्वरकों का उपयोग कर खेती करने के लिए उन्हें प्रोत्साहित किया और इसके लाभ बताये। ‘द गोट ट्रस्ट, लखनऊ’ के वरीय प्रबंधक, विपणन श्री सुशील शुक्ला और श्री विनय गौतम ने पशुपालन में आजीविका की स्थिरता जैसी समस्या और इसके समाधान को लेकर अपने अनुभवों को साझा किया।

आज के कार्यक्रम में श्री आर पी माली, चीफ नोआमुंडी आयरन माइन, टाटा स्टील, श्री एलेन जोसेफ, यूनिट हेड, टीएसआरडीएस, नोआमुंडी और टीएसआरडीएस के अन्य अधिकारी  उपस्थित थे।