आईबीएम ने सस्टेनेबल माइनिंग पर स्वच्छता कार्यशाला का आयोजन किया


संतोष वर्मा। इंडियन ब्यूरो ऑफ माइन्स (आईबीएम), रांची रीजन ने जेआरडी टाटा ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट ऑडिटोरियम, नोआमुंडी में ’स्वच्छता से सतत विकास’ पर एक कार्यशाला का आयोजन किया। 

हिंदुस्तान कॉपर लिमिटेड, कोलकाता के कार्यकारी निदेशक, खान श्री डी के चौधरी इस अवसर पर मुख्य अतिथि थे। उनके साथ श्री अनुपम नंदी, क्षेत्रीय खान नियंत्रक, आईबीएम, रांची प्रक्षेत्र और श्री पंकज सतीजा, जीएम, ओर माइंस ऐंड क्वैरीज, (ओएमक्यू) डिवीजन, टाटा स्टील भी कार्यशाला में उपस्थित थे। 

स्वच्छता कार्यशाला का मुख्य उद्देश्य खनन उद्योगों के बीच सतत खनन के बारे में समझ विकसित करना है। इसके पीछे की सोच विभिन्न तरीकों और प्रभावों के बारे में जागरूकता फैलाना है, जिन्हें पर्यावरण को साफ रखने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है, जो अंततः खानों में विभिन्न स्वच्छता समाधानों के क्रियान्वयन में अग्रणी होता है। इस अभियान में खान कर्मचारियों को शिक्षित करने और स्वच्छ भारत मिशन को क्रियान्वित करने के लिए क्षमता निर्माण करने  पर जोर दिया गया। 

आज के कायक्रम में श्री आर पी माली, चीफ नोआमुंडी आयरन माइन, टाटा स्टील, श्री पी के धल, चीफ प्रोसेसिंग ऐंड लॉजिस्टिक्स, ओएमक्यू, टाटा स्टील एडमिनिस्ट्रेशन, श्री दीपक बेहरा, हेड प्लानिंग, नोआमुंडी आयरन, टाटा स्टील और श्री संजीत अध्या, हेड ऑपरेशंस, नोआमुंडी आयरन माइन, टाटा स्टील और अन्य महत्वपूर्ण सरकारी अधिकारियों ने हिस्सा लिया।