सबसे कम उम्र की सरपंच ने छतरपुर वासियों को सफाई के गुर बताये


पलामू - देश की सबसे कम उम्र की सरपंच जबना चौहान ने  छतरपुर   वासियों को सफाई के गुर बताये ।उन्हे  प्रधानमंत्री के द्वरा सम्मानित किया जा चुका है . वह अक्षय कुमार की फिल्म टायलेट का प्रमोशन भी कर चुकी हैं .उन्होने छतरपुर में नशा मुक्ति अभियान के लिए महिला समिति, स्वंय सहायता समूहों सहित अन्य महिलाओं को जागृत किया ।

छतरपुर प्रखंड कार्यालय परिसर स्वच्छ भारत मिशन के बैनर तले एक कार्यक्रम आयोजित किया गया था । इसी में हिमाचल प्रदेश की मंडी जिले के तर्जूण पंचायत की सरपंच जबना चौहान को बुलाया गया था । जबना ने वहां मौजूद सभी को स्वच्छता और शराब बंदी की शपथ दिलायी । कहा कि बेटियों को पढ़ाने और गांव से लेकर देश तक को स्वच्छ रखने की जरूरत है । इन कार्यक्रमों के लिए ग्राम सभा और मुखिया के अलावा सभी महिलाओं को आगे आना चाहिये । डीसी अमित कुमार ने कहा कि देश के विकास के लिए महिलाओं की भागीदारी जरूरी है। मुखिया की जवाबदेही ज्यादा है । बहुत सारी समस्याओं का समाधान मुखिया को करना है। अभियान को सफल बनाने के लिए हम सभी को आगे आना होगा । इज्जत और अस्मिता के लिए शौचालय निर्माण जरूरी है।  पुलिस कप्तान इंद्रजीत महथा ने कहा कि बच्चे की शिक्षा बहुत जरूरी है और संस्कार उससे भी जरूरी । इससे एक नया समाज बनेगा। कहा कि सभी पंचायत के मुखिया एक प्रस्ताव पारित करें कि अवैध रूप से शराब बनाने वालों को सामाजिक और कानूनी दंड दिया जाएगा । लोगों को समझायें कि यह गलत है और इससे समाज मे गलत प्रभाव पड़ रहे हैं ।

जबना ने छतरपुर के सारे मुखिया से अपील की कि शौचालय बनाने के साथ उपयोग करने की भी जरूरत है। हम सिर्फ गरीबी के नाम पर गलत कार्यो का बढ़ावा नहीं दे सकते। 

मौके पर वरीय प्रभारी शैलेश सिंह, बीडीओ रामरतन वर्णवाल,सीओ विजय हेमराज खलखो,प्रखंड प्रमुख जगनारायण सिंह,उपप्रमुख रणजीत जायसवाल, अरविंद गुप्ता चुनमुन, राजीव कुमार, मुखिया आशा देवी समेत बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे।