प्रायोगिक परीक्षा में मनमानी वसूली, एके सिंह कालेज से विडीओ हुआ वायरल





दरअसल, स्टूडेंट प्रायोगिक विषयों में पढ़ायी नहीं कर पाते और उनमें पास होने की ललक होती है। ऐसे में वे पढ़ाई का कोर्स पूरा कराने वाले शिक्षकों को नाजायज राशि देने पर मजबूर हो जाते हैं। जिले के हुसैनाबाद स्थित एके सिंह डिग्री कॉलेज सहित अन्य इंटर और डिग्री कॉलेजों में इन दिनों प्रायोगिक परीक्षा में नाजायज राशि लेने का मामला सामने आया है। --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------पलामू-हुसैनाबाद के   के सिंह कालेज जपला में पार्ट वन के विज्ञान विषय के परैक्टीकल में नंबर बढ़ाने के नाम पर देखिए कैसे हजार हजार रुपए वसुले जा रहें हैं ।इसमें सम्मिलित हैं विश्वविद्यालय द्वारा नियुक्त इंटरनल प्रोफेसर भी ।इतना ही नहीं आप देखिए प्रायोगिक परीक्षा  हॉल मे चल रहा है शराब . टेबल पर शराब से भरा ग्लास और नीचे है शराब की बोतल .वही पर परीक्षा दे रहे है छात्र छात्राएँ ।महाविद्यालय के विज्ञान प्रोफेसरो ने किया है  कालेज को शर्मशार ।विद्यार्थियो  ने विश्व विद्यालय से माँग किया है कि  भौतिक रसायन विज्ञान के प्रोफेसरो को अविलंब बर्खाशत करते हुए उन पर प्राथमिकी दर्ज कराएँ ।  विभिन्न माध्यमिक व इंटर कालेज के बच्चों ने बताया कि यह कोई नया नहीं है। सभी स्कूल व कालेजों में प्रायोगिक परीक्षा के नाम पर मनमानी वसूली की जाती है। ऐसा नहीं होने पर वो आन्दोलन करेंगे । एके सिह कालेज का पैसा लेते  छात्रों ने  विडीओ वायरल किया है। कालेज के प्राचार्य अशोक कुमार सिंह ने बताया कि उन्हें इस संबंध में मीडिया से जानकारी मिली है। वह मामले की जांच कर उचित कार्रवाई करेंगे।