34 Views

स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर बाल गृह के बच्चों के साथ पदाधिकारियों ने किया भोजन

स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर बाल गृह के बच्चों के साथ पदाधिकारियों ने किया भोजन  

बच्चों को अच्छे व्यक्ति बनने और चरित्र निर्माण की मिली सीख

73 वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर 15 अगस्त 2019 को उपायुक्त सह जिला दंडाधिकारी डॉ0 शांतनु कुमार अग्रहरि, पुलिस अधीक्षक अजय लिंडा सहित जिले के अन्य पदाधिकारियों ने  बाल गृह, बालिका गृह, दिव्यांग आवासीय विघालय के बच्चों के साथ दोपहर का भोजन किया। टाउन हॉल में आयोजित कार्यक्रम में बच्चों ने भी बातें रखी। अधिकारियों को अपने बीच पाकर बच्चों में काफी उत्साह का माहौल था। उपायुक्त के इस प्रयास को सभी ने सराहा। कहा कि उपायुक्त महोदय द्वारा पहली बार इस तरह का कार्यक्रम किया जाना बहुत ही बेहतर है। बच्चों ने प्रशासन के इस प्रयास के लिए धन्यवाद किया। कार्यक्रम में बच्चों को अच्छे व्यक्ति बनने और चरित्र निर्माण की  सीख दी गयी। बच्चों को उपहार भी दिया गया। उपायुक्त डॉ0 शांतनु कुमार अग्रहरि ने बच्चों को स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं दी। साथ ही उन्हें बेहतर नागरिक बनने के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होंने कहा कि आत्मविश्वास को बढ़ाने के लिए आप सबों के बीच हैं। उन्होंने स्वतंत्रता के महत्व को बताया और दूसरों से  समान व्यवहार रखने की सीख दी। कहा कि बच्चे देश के भविष्य हैं। सभी मिलकर देश और समाज निर्माण का कार्य करें। प्रशासन का सहयोग करें। महापुरुषों और शहदों से सीख लें और राष्ट्र निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं।  पुलिस अधीक्षक अजय लिंडा ने बच्चों को प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि संकल्प, सोच और जज्बा को बरकरार रखते हुए आगे बढ़ें। 

बेहतर चरित्र निर्माण करना है। उन्होंने बच्चों को प्रोत्साहित करते हुए परोपकारी, सेवा की भावना रखने की सीख दी। उन्होंने कहा कि अच्छा चरित्र निर्माण आवश्यक है। सभी ईमानदारी पूर्वक मेहनत करना सीखें। चुनौतियों डरने की आवश्यकता नहीं बल्कि बेहतर इंसान बनने की आवश्यकता है। उप विकास आयुक्त बिंदु माधव प्रसाद सिंह ने कहा कि सभी बच्चे समझदार हैं। महात्मा गांधी,  सरदार पटेल आदि महापुरुषों ने हमें आजादी दिलाई। उन्होंने कहा कि अन्य बच्चों की तरह आप जैसे विशेष बच्चों का उत्साहवर्धन करने का कार्य प्रशासन कर रही है। जैसा सोच रखेंगे, वैसा बनेंगे। इसलिए बेहतर बनने की कोशिश करें। सिविल सर्जन डॉ0 जॉन एफ केनेडी ने बच्चों को बताया कि पलामू के लिए यह बड़ी बात है। आप सभी बच्चों के साथ उपायुक्त सहित सभी विभागों के पदाधिकारी भोजन कर उत्साह वर्धन कर रहे हैं। यह कार्यक्रम समानता के अधिकार को साबित कर रहा है। धरती पर सभी एक समान हैं।  किसी व्यक्ति को कमजोर नहीं समझना चाहिए। जीवन में आगे बढ़ते रहें। उन्होंने बच्चों को महत्वपूर्ण के साथ अच्छे नागरिक बनने के लिए प्रेरित किया।  कहा कि हमेशा अच्छा आदमी बनने की कोशिश करना चाहिए। जीवन में तरक्की कर उचाईयों तक पहुंचे।    उप समाहर्ता शैलेश कुमार ने  सभी बच्चों को कहा कि वे देश के भविष्य हैं। आप किसी अन्य विघालय के बच्चे से कम नहीं हैं। आपलोग उत्साह के साथ भाग लें। उन्होंने कहा कि जीवन में आगे बढ़ने और स्वतंत्रता दिवस के महत्व को समझे। उन्होंने कहा कि हम सभी को जाति, समुदाय, भाषा से उपर उठकर आगे बढ़ने की आवश्यकता है। उन्होंने स्वतंत्रता दिवस के महत्व तथा महापुरुष और वीर शहीदों के बारे में भी बताया। एसडीओ एनके गुप्ता ने बच्चों को हमेशा उत्साह बरकरार रखने की नसीहत दी। कहा कि अपना भविष्य अपने हाथ में है। जिला प्रशासन सभी को सहयोग के लिए हमेशा तैयार है।मौके पर उप समाहर्ता शैलेश कुमार, सिविल सर्जन  डॉ0 जॉन एफ केनेडी, एसडीओ एनके गुप्ता, उत्पाद अधीक्षक संजय श्रीवास्तव, कार्यपालक दंडाधिकारी सुधीर कुमार, प्रभारी  जिला समाज कल्याण पदाधिकारी नीता चौहान आदि थे। पदाधिकारियों ने भोजन किया। संचालन उप समाहर्ता शैलेश कुमार और धन्यवाद ज्ञापन  प्रभारी जिला समाज कल्याण पदाधिकारी नीता चौहान ने की।