65 Views

करमा पर्व केवल एक विधान मात्र नहीं बल्कि यह भातृप्रेम धर्म रक्षा ज्ञान बोध कराने का भी पर्व है–अर्जुन मुंडा

प्रतिनिधि ब्रजेश कुमार खूँटी 9 सित. : करमा अखरा टाँड़ सजकर तैयार हो गया । इस करमा महोत्सव का उद्घाटन भारत सरकार के जनजातीय विकास मंत्री श्री अर्जुन मुंडा जी के द्वारा आज शाम किया गया। साथ में रहे तत्कालिन भारत सरकार के पूर्व लोकसभा उपाध्यक्ष श्री कड़िया मुंडा । साथ ही खूँटी विधायक श्री नीलकंठ सिंह मुंडा व भाजपा जनजातीय प्रकोष्ठ  के राष्ट्रीय महामंत्री श्री कोचे मुंडा जी भी मुख्य रुप से उपस्थित हुए ।  कार्यक्रम के पूर्व बतौर मुख्य अतिथि श्री अर्जुन मुंडा व कड़िया मुंडा करमा अखरा प्रांगण में सखुआ व करम पेड़ लगाकर वृक्षारोपण किये । करमा आयोजन समिति ने सभी अतिथियों को सम्मान पूर्वक मंच तक ले गए । फिर प्रारंभ हुआ करमा पर्व पूजन विधान । उपासिनों व पाहन ने भगवान करमा देव की पूजन किये । पूजन समाप्ति के पश्चात शुरु हुआ उल्लसित भाव भंगीमायुक्त अखरा नृत्य । सभी लोग मिलकर पारंम्परिक गीत नृत्य करने लगे ।  इस बीच बतौर मुख्य अतिथि श्री अर्जुन मुंडा ने कहा कि यह पर्व केवल एक विधान मात्र नहीं बल्कि यह हमें भातृप्रेम धर्म रक्षा ज्ञान बोध भी करने का पर्व है ।कड़िया मुंडा ने कहा कि करमा पर्व एक सामाजिकता का पर्व है जिसे सभी मिलकर मनाते हैं । जिससे मनुष्य का मनुष्य के प्रति प्रेम के अलावे प्रकृति धर्म रक्षा का भाव जगाता है ।  आयोजन समिति के अध्यक्ष श्री जगन्नाथ मुंडा ने सभी आगंतुकों का स्वागत करते हुए उचित व्यवस्था रख रखे थे । किसी को दिक्कत न हो इसके लिए सभी सदस्यों को भी अलग अलग लगा दिए थे । जहाँ भोजन भंडारा का भी उचित व्यवस्था बना किया गया था ।  कार्यक्रम को सफल बनाने में लीलू पाहन, पांडया मुंडा, विजय मुंडा, फागुन मुंडा,  मदिराय मुंडा, नौकरी पूर्ति के साथ अनेक कार्यकर्ता तटस्थ रहे ।इस पुण्य भूमि प्रांगण खूँटी करमा अखरा टांड़ में करमा महोत्सव पर्व में हजारों धार्मिक प्रेमी जन सहृदयानुकूल हो कार्यक्रम में उपस्थित रहे व पूजन और कार्यक्रम का आनन्द लिये  ।