104 Views

करमा की खुशियां मातम में बदली, डैम में नहाने गयी पांच छात्राएं डूबी-तीन की मौत

: पलामू 9 सितम्बर: प्रकृति एवं भाई के प्रति बहन के अटूट प्यार के प्रतीक करमा पर्व करने के लिए स्नान करने गयी पांच छात्राएं आज पलामू जिले के एक डैम में डूब गयी. इनमें से दो को किसी तरह बचाया जा सका, जबकि तीन की मौत हो गयी. सारे शव निकाले जा चुके हैं. डूबने के बाद गंभीर हुई दो छात्रा को इलाज के लिए पीएमसीएच मेदिनीनगर लाया जा रहा है. सभी की पहचान हो गयी है. सभी कक्षा तीसरी और चैथी के थे. घटना के बाद गांव में शोक की लहर है. परिजन जहां दहाड़ मारकर रो रहे हैं, वहीं ग्रामीण शोकाकुल हैं.

  • नावाबाजार थाना क्षेत्र में हुई घटना

पलामू जिले के नावाबाजार थाना क्षेत्र के पीढहा पाठ डैम में पांच छात्राएं करमा करने के लिए नहाने गयी थीं. पीढहा पाठ डैम चर्चित चेगौना धाम से सटे है. सभी छत्तरपुर थाना क्षेत्र के खोड़ी गांव के रहने वाली थीं. नहाने के दौरान पांचों डूबने लगे. किसी तरह ग्रामीणों के प्रयास से दो छात्राओं को बाहर निकाला गया, जबकि तीन डैम की गहराई में समा गयी. बाद में खोजबीन के बाद तीनों के शव निकाले गए. उनकी पहचान विजय यादव की 7 वर्षीया पुत्री आकांक्षा कुमारी, मदन यादव की 10 वर्षीया पुत्री आकृति कुमारी और राधेकृष्ण यादव की 12 वर्षीया पुत्री सुनैना कुमारी के रूप में हुई है.

  • एक छात्रा को बचाने में हुआ हादसा

खोड़ी गांव से पांच छात्राएं पीढहा पाठ डैम में नहाने गयी थीं. ऐसी परंपरा रही है कि नदी, तालाब या डैम में नहाने के बाद ही किसी पर्व त्योहार की शुरूआत की जाती है. घटना आज शाम चार से पांच बजे के बीच की है. पांचों छात्राएं डैम में नहा रही थीं. चर्चा है कि इसी दौरान एक छात्रा डूबने लगी. उसे बचाने में चार अन्य छात्राएं भी डूबने लगी. हालांकि ग्रामीणों की तत्परता से पांचों को बाहर निकाला गया और इलाज के लिए पीएमसीएच, मेदिनीनगर भेजा गया.

  • तीन छात्राएं मृत घोषित की गयी, दो का इलाज चल रहा है: एसडीपीओ

छत्तरपुर के एसडीपीओ शंभू सिंह ने बताया कि घटना के बाद ग्रामीणों ने किसी तरह पांचों छात्राओं को बाहर निकाला. सभी को इलाज के लिए पीएमसीएच लेकर पहुंचे, लेकिन यहां तीन छात्राओं को मृत घोषित कर दिया गया, जबकि दो का इलाज चल रहा है.