डाईन बसाइन के संदेह पर नाथी ने कर दी गला रेत कर नानी की हत्या


जेटिया पुलिस ने किया चार दिनों में मामला का खुलाशा, मिली सफलता


नानी कि हत्या करने के आरोप में गुवा थाना क्षेत्र से दो हुए गिरफ्तार


5 मार्च को कि थी राई मुनी पुरती कि हत्या, शव को फेका गया था जेटिया थाना क्षेत्र के हतनाबेड़ा गांव के अंगरसिया जंगल के किसन पुरती के कूंआ में


संतोष वर्मा। जेटिया थाना क्षेत्र के पटैता पंचायत के हातनाबेड़ा गांव के अंगरसिया टोला के जंगल में किसन पुरती के कुंआ में 14 मार्च को मिली एक 50 वर्षिय अज्ञांत महिला की शव का हुआ पहचान.जेटिया पुलिस ने गुवा पुलिस के सहयोग से महज चार दिन में किया खुलाशा. और अज्ञांत महिला की शव राय मुनी पुरती के रूप में कि गई,वहीं राय मुनी पुरती का हत्या करने वाला कोई और नहीं बल्की मृतका का नाथी काण्डे पुरती, दामु पुरती, उपनो पुरती और मंगल पुरती निकला.साथ ही इस मामले का उदभेदन के साथ साथ रायमुनी पुरती का हत्या करने के आरोप में पुलिस ने मंगल पुरती और दामु पुरती को किया गिरफ्तार.अपराधियों नें हत्या करने वाला तेज धारधार चाकु को उसी कुंआ में फेका.जेटिया पुलिस को मिली बड़ी सफलता.ज्ञांत हो कि सभी आरोपी गुवा थाना क्षेत्र के बेतरकिया गांव, मुण्डासाई व बुरूसाई क्षेत्र का रहने वाला है.इस सबंध में मिली जानकारी के अनुसार बताया गया कि पुलिस गुप्त सुचना के आधार पर शनिवार को गुवा पुलिस के सहयोग से जेटिया थाना के एएसआई जयराम मिश्रा ने आरोपियों के गांव में छापामारी कर गिरफ्तार किया.गिरफ्तार अपराधियों नें पुलिस को जानकारी दी कि काण्डे पुरती का पेट में हमेशा दर्द हुआ करता था.इसी कारण काण्डे ने हत्या के तीन दीन पुर्व गांव के ही ओझा के पास गया और अपना झाड़फुक करवाया तो ओझा नें काण्डे को बताया कि तुम्हारा घर में ही तुम्हारा नानी डायन बिसाही कर दिया है,जिसके कारण पेट दर्द हो रहा है.इतना सुनने के बाद काण्डे ने दामु पुरती, मंगल पुरती, उपनो पुरती से ये बात बताई और हत्या का योजना बताया.इधर काण्डे ने अपनी नानी कि हत्या करने के लिए तिथि व समय निर्धारित करने के काण्डे अपने चार साथियों के साथ 5 मार्च 18 को रात्री दस बजे जबरन घर से निकाल कर राई मुनी पुरती को जेटिया थाना क्षेत्र के पटैता पंचायत गांव हातनाबेड़ा टोला अंगरियासाई के जंगल में किसन पुरती के कुंआ के पास ले गया. कुंआ के पास पहुंचने के बाद चारो नें पहले रस्सी से पैर हाथ बांध दिया और फिर तेज धारदार चाकु से गला रेत कर राई मनी पुरती कि हत्या कर दी फिर उसी के साड़ी उसके गले में लपेट कर तथा एक बड़ा पत्थड़ बांध कर लाश को कुंआ में फेक दिया.उसके बाद सभी अपने अपने घर चले गये.इधर मंगल पुरती का भाई रोया पुरती जब अपनी नानी को नहीं देखा तो सभी से कहा कि नानी नहीं मिल रहा है खोज कर लाओं लेकिन काण्डे व सहयोगियों ने टाल मटाल कर जबाब देता रहा तो रोया को शक हुआ इन लोगों पर.लेकिन 14 मार्च को को हतनाबेड़ा गांव टोला अंगससिया बार्ड के बार्ड सदस्य श्री गोप द्वारा जेटिया पुलिस को सुचना दी थी अंगरसिया जंगल के पास किसन पुरती के खेत में बने कुंआ में एक लाश तैर रहा है.इस सुचना के बाद जेटिया थाना के सअनि जयराम मिश्रा अपने दलबल के साथ नक्सल प्रभावित क्षेत्र में घुस कर उक्त कुंआ से लाश को बरामद किया.जिसे बाद में लाश को अंतपरिक्षण के लिए सदर अस्पताल भेज दिया गया था.वहीं पोस्टमार्टम करने के दौरान ही गला रेत कर हत्या करने कि पुष्टी हो गई थी.इधर जेटिया पुलिस को भी शक था की जमीन विवाद या डायन बिसाही के संदेह में महिला कि हत्या कर शव को कुंआ में फेका गया है , और लाश आस पास के क्षेत्र है.लाश कि पहचान भले ही घटना स्थल किसी ने नहीं किया लेकिन पुलिस के द्वारा शव को 72 घंटे सुरक्षीत रखने का उद्देशय सार्थक हुई और 72 घंटे के अंदर ही लाश कि पहचान हुई और मामले का फर्दिफाश भी हुआ.