94 Views

सभी विभागों के सहयोग से ही दूर होगा कुपोषण : सुशील मोदी

सभी विभागों के सहयोग से ही दूर होगा कुपोषण :  सुशील मोदी

राज्य के 650 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर लगा नि:शुल्क चिकित्सा शिविर

पटना: 18 सितम्बर: राज्य से कुपोषण को दूर करने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है। लेकिन सभी विभागों के आपसी सहयोग से ही कुपोषण को जड़ से ख़त्म किया जा सकता है। इसे ध्यान में रखते हुए ही राज्य भर में राष्ट्रीय पोषण माह मनाया जा रहा है। यह बातें मंगलवार को पटना के शास्त्रीनगर स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में राज्य के उप-मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने निशुल्क चिकित्सा शिविर के उद्घाट्न करने के दौरान कही। 

उन्होंने कहा मातृ व शिशु स्वास्थ्य का प्रबंधन, संस्थागत प्रसव को बढ़ावा तथा एनीमिया प्रबंधन से कुपोषण से मुक्ति पायी जा सकती है। नवजात को कम से कम 6 महीने तक सिर्फ स्तनपान तथा 6 महीने के उपरान्त स्तनपान के साथ समुचित उपरी आहार नियमित रूप से देने से कुपोषण पर लगाम लगायी जा सकती है। उन्होंने नवजात के लिए स्तनपान की अहमियत पर बात करते हुए कहा उन्होंने भी अपने घर में नवजात को 6 माह तक सिर्फ़ स्तनपान ही कराया। आज नवजात बिलकुल स्वस्थ है। उन्होंने कहा सरकारी स्कूलों के मध्याहन भोजन में प्रोटीन व खनिज से युक्त भोजन देने की योजना पर काम कर रही है। इसे शीघ्र ही राज्य भर में लागू किया जाएगा। इससे भी कुपोषण पर नियंत्रण में मदद मिलेगी। कुपोषण को दूर करने में साफ-सफाई एवं स्वच्छता अनिवार्य है। उन्होंने आस-पास एवं घरों में  साफ-सफाई एवं स्वच्छता बनाए रखने की अपील भी की। उन्होंने इस अभियान से जुड़े सभी विभागों को धन्यवाद ज्ञापित किया तथा पूरे माह के लिए विभागों को शुभकामनायें दी। 

इस अवसर पर राज्य के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पाण्डेय ने कहा राज्य के 650 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर निशुल्क स्वास्थ्य शिविर लगाया जा रहा है तथा पटना नगर में 6 केन्द्रों पर शिविर लगाया गया है। उन्होंने बताया पूरे पटना नगर में स्थित सभी 22 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों को आधुनिक सुविधाओं से लैस करने की योजना है। शास्त्रीनगर स्वास्थ्य केंद्र को दो मंजिला केंद्र में तब्दील किया जायेगा तथा यह केंद्र निकट भविष्य में सभी सुविधाओं से लैस होगा। विभाग के सभी कर्मचारी पोषण माह को सफल बनाने के लिए संकल्पित हैं तथा पूरी तरह से सजग हैं।  उन्होंने अधिक से अधिक लोगों को स्वास्थ्य शिविर के माध्यम से लाभान्वित होने की अपील की।  

जिला के सिविल सर्जन डा. राजकिशोर चौधरी ने बताया शास्त्रीनगर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में आँखों की जांच, हेमोग्लोबिन के जांच की सुविधा तथा सामान्य प्रसव की सुविधा शुरू हो गयी है। उन्होंने इसके लिए स्वास्थ्य मंत्री तथा विभाग के प्रमुख सचिव संजय कुमार को धन्यवाद ज्ञापित किया।  

इस अवसर पर स्वास्थ्य शिविर में नेत्र चिकित्सा, स्त्री रोग, परिवार नियोजन, शिशु रोग, मेडिसिन तथा परिवार नियोजन आदि साधनों के स्टाल लगाये गए तथा दोपहर 12 बजे तक करीब 200 लोगों ने चिकित्सीय सेवाओं का लाभ उठाया. इस अवसर पर दीघा क्षेत्र के विधायक संजीव चौरसिया ने बताया की प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर सुविधाओं के विस्तार से जनमानस तक गुणात्मक चिकित्सीय सेवा उपलब्ध करने में सहायता मिलेगी। 

इस अवसर पर स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव संजय कुमार, राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार ,राज्य कार्यक्रम प्रबंधक शैलेश कुमार तथा स्वास्थ्य, समेकित बाल विकास विभाग, स्वयंसेवी संस्थानों के प्रतिनिधि तथा अन्य गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे।