खबर ही मेरी पहचान: भारत बंद को लेकर जगन्नाथपुर, नोवामुण्डी, बड़ाजामदा समेत खदान क्षेत्रों में व्यापक असर दिखा

 


दुकाने पुर्ण रूप से बंद रही, नहीं चली बसे और यात्री रहे परेशान


बाबा साहेब अंबेदकर के कानुन के अस्तित्व को बचाने के आदिवासी,हरिजन व दलित उतरे सड़क पर


जगन्नाथपुर। सुप्रिम कोर्ट द्वारा एससी एसटी कानुन को समाप्त करने को लेकर आदेश जारी किया गया था.इसी आदेश के बिरोध में सोमबार को भारत बंद का पूर्व घोषित कार्यक्रम के तहत जगन्नाथपुर, नोवामुण्डी, बड़ाजामदा आदि क्षेत्रों में पूर्ण रूप से दुकाने बंद रही.साथ ही आस मार्ग से चाईबासा,रांची और टाटा, बोकारो कि ओर जाने वाली बसों का परिचालन पूरी तरह बंद रहा.बसों का परिचालन बंद होने के कारण यात्री हलकान रहे. कई लोगों ने तो माल ढुलाई वाले पिकअप भान से किसी सफर किया.भारत बंद को लेकर आदिवासी हो समाज युवा महासभा, आदिवासी हरिजन बेरोजगार ग्रामीण मजदुर संघ के बैरन तले नोवामुण्डी भाग एक के जिला परिषद सदस्य शंभु हाजरा व प्रशांत चाम्पिया के साथ कार्यकताओं ने सड़क पर उतरा और बंद का समर्थन किये.जगन्नाथपुर बस पड़ाव में कई यात्री तीन बजे भोर से बस कि प्रतिक्षा में खड़े रहा.खदान क्षेत्रों में भी बंद का व्यापक असर रहा.

वहीं जगन्नाथपुर में भारत बंद के दौरान जगन्नाथपुर प्रखंड मुख्यालय में दुकाने बंद कराया गया वहीं वाहनों को भी रोक दी गई.बंद के दौरान आदिवासी हो समाज युवा महासभा के अनुमंडल अध्यक्ष व केंद्रीय उपाध्यक्ष भूषण लागुरी ने कहा कि भाजपा सरकार के इशारा पर सुप्रीम कोर्ट दवारा अनुसूचित जनजाति व अनुसूचित जाति उत्पीड़न एक्ट में बुलाई गई भारत बंदी का असर जगन्नाथपुर असरदार है । सुबह से बंदी के समर्थन में दुकानदारों अपनी अपनी बंद रखी । एक दो दुकान को बंद समर्थको द्वारा मोटर साईकिल पर सवार होकर घूम घूम कर बंद कराया गया । केंद्रीय उपाध्यक्ष भूषण लागुरी ने कहा कि सरकार के इशारा पर कोर्ट इस तरह के नियमों का संशोधन कर रही है । आज लोगों का सुप्रीम कोर्ट से भरोसा उठ गया है । अनुमंङल अध्यक्ष मंजीत कोड़ा ने कहा कि 60 साल बाद केंद्र में पहली बार बहुमत वाली भाजपा नीत सरकार आदिवासी हित में कानून में संशोधन कर आदिवासी विरोधी का परिचय दे दिया । इस तरह कानूनों में संशोधन कर आदिवासियों को समाप्त करने साजिश है । इस दौरान अनुमंङल संगठन सचिव बिरेंद्र बालमुचू, मुंङा सोमनाथ सिंकु, गुरुचरण सिंकु, सुमंत ज्योति सिंकु, बलराम लागुरी, प्रेम कुंकल, देवेन सोय , गंगाराम सिंकु आदि शामिल थे. दुसरी ओर हाटगम्हारिया प्रखंड़ मुख्यालय में भारत बंद को लेकर बाजार में भी  बंद रही तथा हाट बाजार भी प्रभावित हुआ वहां टायर जालकर बिरोध प्रदर्शन किया गया. जानकारी के मुताबिक सप्ताहिक बाजार में भी प्रभावित रही।बंद का नेतृत्व आदिवासी हो समाज युवा महासभा के जिला संयोजक श्री गलाय चातोम्बा ने की है मौके में चातोम्बा ने कही एस,एसटी एक्ट सुप्रीम कोटॅ दारा संशोधन करना आदिवासी के साथ अन्याय कर रही है आदिवासी हित में निमाॅण नियम -कायदे को तोड़ना राजनैतिक साजिश है इस मौके पर हो समाज प्रखण्ड अध्यक्ष रोशन गागराई,जसवीर बिरुवा,मनोज सिंकु ,संजय गागराई,बड़कुंर सिंकु सालुका सिंकु ,कैलाश पिंगुवा ,सेलाए सिंकु अजय चातोम्बा,गोमेया बहान्दा आदि मौजूद थे.


पेट्रोल पंप भी रहा बंद

भारत बंद के पूर्व घोषित कार्यक्रम को देखते हुए जगन्नाथपुर में पेट्रोल पंप भी रहा बंद.पंप बंद रहने के नहीं मिली लोगों को पेट्रोल.जिस कारण पंप पर सन्नाटा पसरा रहा.


नहीं चली लंबी दूरी की बसें, यात्री हुए परेशान


भारत बंद को लेकर किरीबुरू, बड़बील, गुवा आदि कि ओर से जगन्नाथपुर होकर रांची, जमशेदपुर, बोकारो,चाईबासा तक चलने वाली बसों का परिचालन पुरी तरह बंद रहा.जिसके कारण यात्री को काफी परेशानियों का सामना करना.बस बद होने के कारण छोटे वाहनों पर यात्रा करने को बाध्य हुए.


नहीं खुली बैंक

जगन्नाथपुर प्रखड मुख्यालय में अवस्थित भारतीय स्टेट बैंक, बैंक अॉफ बड़ौदा, बैँक अॉफ इंण्डिया, कॉपरेटिव बैंक व ग्रामीण बैंकों में जड़ा रहा ताला.एटीएम काउंटर का क्या कहना.