37 Views

पी डी जे विजय कुमार ने चलंत लोक अदालत को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना

। प्रखंडों में लगेगी चलंत लोक अदालत। मेदिनीनगर, चलंत लोक अदालत सह विधिक जागरूकता वाहन को पलामू के प्रधान जिला व सत्र न्यायाधीश विजय कुमार ने हरी झंडी दिखाकर व्यवहार न्यायालय परिसर से रवाना किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि यह न्याय रथ जिले के विभिन्न प्रखंडों में जाकर मामले की सुनवाई करेगा ।उन्होंने बताया कि इसकी शुरुआत सदर प्रखंड से की जा रही है। लोगों को न्याय द्वार पर मिलेगा ।इसी उद्देश्य से न्याय रथ को रवाना किया जा रहा है ।उन्होंने कहा कि चलंत लोक अदालत में लोग आवेदन देकर मामले को ला सकते हैं ।।प्रयास होगा कि लोगों   के मामले का निस्तारण शीघ्र हो सके। इस मौके  प्राधिकार के सचिव अशोक कुमार ने कहा कि चलंत लोक अदालत में प्राप्त आवेदन को पंजीकृत किया जाएगा ।और संबंधित विभाग को उचित कार्रवाई के लिए भेजा जाएगा ।उन्होंने बताया कि चलंत लोक अदालत में मामले दर्ज कराने के लिए सादे कागज पर आवेदन करना पड़ता है। इसके लिए कोई शुल्क नहीं लगता है। इस मौके पर चलंत लोक अदालत में शामिल सदस्यों को कई टिप्स दिए गए ।इस मौके पर एडीजे,पंकज कुमार,बी के तिवारी,आसिफ इकबाल,संतोष कुमार,मनीष रंजन,शत्रुंजय सिंह,पी एन पांडेय, अमरेश कुमार,सी जे एम निरूपम कुमार,दीपक कुमार,विक्रांत रंजन,रोहित कुमार,सफदर अली नैयर, राजेन्द्र प्रसाद, एम जेड तारा,अमित गुप्ता,सतीश मुंडा,अधिवक्ता संघ के उपाध्यक्ष मंधारी दूबे,अधिवक्ता,वीणा मिश्रा,संतोष कुमार पांडेय,संजय पाण्डेय,इंदु भगत  ,सचिन्द्र कुमार पांडेय,दिव्या रश्मि,शैल शिखा,प्रदीप सिंह, समेत दर्जनों लोग उपस्थित थे।बॉक्स, मेदिनीनगर ,चलंत लोक अदालत पहुँचा सदर ब्लॉक। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा संचालित  चलंत लोक अदालत सोमबार के पहले सदर ब्लॉक पहुँचा। चलंत लोक अदालत में  एक दर्जन से अधिक मामले पंजीकृत किया गया। इस मौके पर प्राधिकार के सचिव अशोक कुमार ने कहा कि  चलंत लोक अदालत पूरे जिले में विभिन्न प्रखंडों में जाकर लोगों को शिकायत सुझाव व  संबंधित मामलों का पंजीकृत करेगी। उन्होंने जिला विधिक सेवा प्राधिकार से मिलने वाली सुविधाओं के बारे में विस्तार से जानकारी दी ।उन्होंने कहा कि प्रत्येक माह के अंतिम शनिवार को व्यवहार न्यायालय परिसर में लोक अदालत का आयोजन किया जाता है । परन्तु चलंत लोक अदालत गांव गांव में जाकर लोगों की समस्याओं की जानकारी एकत्रित करेगी । उन्होंने जिला विधिक सेवा प्राधिकार से मिलने वाली सुविधाओं के बारे में जानकारी दी। और कहा कि न्याय से कोई भी  ब्यक्ति अब वंचित नहीं रहेगा। उन्होंने कहा कि घरेलू हिंसा से पीड़ित महिलाएं भी आवेदन कर सकती हैं ।साथ ही छोटे-मोटे मामले को रख सकते हैं। इस