NPR,  NRC, CAA का विरोध, अब गिरिडीह में भी दिखा!

गिरिडीह-: नागरिकता कानून को लेकर देश भर में पक्ष-विपक्ष के वाद-विवाद से अब हमारा शहर गिरिडीह भी अछूता नहीं रह गया।यहां भी इस कानून को परोक्ष रूप से नहीं लागु होने देने हेतु यहां के आम अवाम समेत नेता व् सामाजिक कार्यकर्ता सनै-सनै आगे आ रहे हैं।आज शहर स्थित बरवाडीह कर्बल्ला मैदान में सैकड़ों की संख्या में यहां के स्थानीय नागरिकों समेत नेता व् बुद्धिजीवी लोगों का हुजूम इस NRC, CCA, NPR कानून के विरोध में अपने मांगों को लेकर बृहत बैठक की।उपस्थित मानवाधिकार आयोग के सम्मानित सदस्य  मोo इरशाद अहमद वारिस ने उपस्थित आवाम् को संबोधित करते हुए यह कहा कि इन अनसुलझे कानून से किसी भी प्रकार का लाभ देशवासियों को नहीं है। सभी क्षेत्रों में इसे लागु कर आपसी भाईचारे को भुलाकर सत्तासीन सरकार आम जनों के बीच भारी मतभेद कायम कर रही है जो स्वच्छ समाज पर घातक प्रहार है। हम ऐसे कानून का   पुरजोर विरोध शांतिपूर्ण तरीके से कर रहे हैं।नए नागरिकता कानून के विरोध पक्ष में मुख्य रूप से उपस्थित इंटक नेता ऋषिकेश मिश्रा वार्डपर्षद असदुल्लाह अधिवक्ता साजिद अली महमूद, वार्डपर्षद सैफ अली गुड्डू पूर्व मुखिया प्रतिनिधि समेत सैकड़ों की संख्या में स्त्री/पुरुष सभा के अंत तक मौजूद थे।