फास्ट ट्रैक कोर्ट के माध्यम से दोशी को मिले जल्द सजाः कमलेश

दुष्कर्म पीड़ित बच्ची का इलाज एनसीपी की देख रेख में किया गया

पलामूःबुधवार की शाम एक 6 वर्षीय बच्ची के साथ गांव के ही युवक ने दरिंदगी की। जिसमें बच्ची की स्थिति चिंताजनक हो गई। अनुमंडलीय अस्पताल हुसैनाबाद में प्राथमिक उपचार के बाद बेहतर इलाज के लिए पीएमसीएच मेदिनीनगर रेफर किया गया। इस बीच हुसैनाबाद के विधायक सह पूर्व मंत्री कमलेश कुमार सिंह ने पलामू के पुलिस अधीक्षक से दोषी की गिरफतारी करने की बात कही। वहीं सिविल सर्जन जाॅन एफ कैनेडी से बच्ची का समुचित इलाज करने का निर्देश दिया। कमलेश कुमार सिंह ने पार्टी के जिला अध्यक्ष अजित सिंह व पूर्व अध्यक्ष प्रभाष दास गुप्ता उर्फ साधन दादा को देख रख में इलाज कराने का निर्देश दिया। विधायक के निर्देश पर दोनो नेताओं ने बुधवार की आधी रात में ब्लड की व्यवस्था कराई। वहीं सर्जन सुशील पांडेय से बच्ची का आपरेशन कराया। चिकित्सक ने बच्ची को फिल्हाल खतरे से बाहर बताया है। विधायक कमलेष कुमार सिंह ने कहा है कि इस जघन्य अपराध के लिए दोषी को कड़ी से कड़ी सजा मिलना चाहिए। उन्होंने कहा है कि वह स्वयं, उनकी पार्टी व हुसैनाबाद की जनता पीड़ित बच्ची के साथ हैं। उन्होंने कहा है कि सरकार ने फास्ट ट्रैक कोर्ट के गठन का आदेष पहले ही दे दिया है। इस मामले को फास्ट ट्रैक कोर्ट में लाकर पीड़ित बच्ची व उसके परिवार को न्याय दिलाने में वह पीछे नहीं रहेंगे। उन्होंने कहा कि कानून व्यवस्था को लेकर भी वह नजर बनाये हुए है। उन्होंने कहा कि कानून व्यवस्था बिगाड़ने वालों को किसी कीमत पर बख्सा नहीं जायेगा। कमलेश कुमार सिंह व पार्टी नेताओं ने इस घटना की घोर निंदा की है। हुसैनाबाद स्थित पार्टी कार्यालय में बैठक कर निंदा प्रस्ताव पारित किया गया। एनसीपी कार्यकर्ताओं ने भी दोषी को फांसी की सजा की मांग की है। ताकी पीड़ित बच्ची व उसके परिजनो को न्याय मिल सके। निंदा व मांग करने वालों में जिला अध्यक्ष अजित सिंह, पूर्व अध्यक्ष साधन दादा के अलावा वसीम अहमद, योगेंद्र कुमार सिंह, श्रवण कुमार सिंह,विनोद कुमार सिंह, मंदीप राम, राजकुमार ठाकुर, विनय पासवान, विजय राजवंशी, राजकुमार प्रजापति, अजय सिंह, प्रिंस शर्मा, शिवप्रसाद रजवार समेत कई शामिल थे।