रन फॉर रोड सेफ्टी में दौड़ा पलामू, सड़क सुरक्षा की दी जानकारी

सुरक्षित काम करने, सुरक्षा का ध्यान रखने का दिया संदेश

पुलिस अधीक्षक, डीडीसी, परिवहन पदाधिकारी, एसडीओ सहित अन्य पदाधिरियों ने हरी झंडी दिखाकर किया रवाना

31वां राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह के अंतर्गत 15 जनवरी 2020 को पलामू में रन फॉर रोड सेफ्टी (मैराथन दौड़) का आयोजन किया गया। इसमें पलामूवासियों ने दौड़ लगाकर सड़क सुरक्षा की जानकारी दी। साथ ही सुरक्षित काम करने, सुरक्षा का ध्यान रखने का संदेश दिया। जिला परिवहन विभाग की ओर से छह मुहान से पुलिस लाइन तक रोड सेफ्टी कार्यक्रम का आयोजन किया गया। छह मुहान पर पुलिस अधीक्षक अजय लिंडा, उप विकास आयुक्त बिंदु माधव प्रसाद सिंह,  जिला परिवहन पदाधिकारी शैलेश कुमार, सदर एसडीओ सुरजीत कुमार सहित अन्य पदाधिकारियों ने हरी झंडी दिखाकर इसे रवाना किया। साथ ही रन फॉर रोड सेफ्टी के तहत दौड़ लगायी। रन फॉर रोड सेफ्टी छह मुहान चौक से शुरू होकर पलामू चिकित्सा महाविद्यालय (हॉस्पिटल) चौक, साहित्य समाज चौक होते पुलिस लाइन पहुंची। इस अवसर पर पदाधिकारी, कर्मचारी सहित छात्र-छात्राओं ने सड़क सुरक्षा मानकों का पालन करने के लिए रोड सेफ्टी से जुड़े संकल्प को दोहराते हुए रन फॉर रोड सेफ्टी में भाग लिया। 

सड़क दुर्घटनाओं में हो रही वृद्धि की रोकथाम तथा आम लोगों में यातायात नियमों के प्रति जागरूकता बढ़ाने हेतु उपायुक्त डॉ. शांतनु कुमार अग्रहरि के निर्देशानुसार पलामू में राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह के तहत कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। सड़क सुरक्षा सप्ताह 11 जनवरी से 17 जनवरी 2020 तक चलेगा। इसके माध्यम से लोगों से अपील किया गया कि वाहन चलाते समय हेलमेट का प्रयोग अवश्य करें। वाहन पर सही नंबर प्लेट लगाएं, अपने वाहन से संबंधित समस्त कागजात अपने साथ रखें,  शराब पीकर गाड़ी नहीं चलाएं, ओवर स्पीड से बचे, सीट बेल्ट, हेलमेट व जूता पहनकर ही वाहन चलाएं, तेज गति से वाहन नहीं चलाएं, वाहन चलाते समय मोबाइल पर बात नहीं करें सहित सड़क सुरक्षा से संबंधित अन्य अपील किये गये। ताकि सड़क दुर्घटनाओं से बचा जा सके। 

जानकारी हो कि बढ़ती सड़क दुर्घटनाओं की रोकथाम एवं यातायात नियमों के सफल क्रियान्वयन के लिए 11 जनवरी से 17 जनवरी 2020 तक पलामू जिले में सड़क सुरक्षा सप्ताह मनाया जा रहा है। इसके तहत लोगों को जागरूक करने का कार्य हो रहा है, ताकि पलामू में सड़क दुर्घटनाओं से होने वाली शारीरिक क्षति एवं मृत्यु दर में कमी लाई जा सके। 

पुलिस लाइन स्टेडियम में रन फॉर रोड सेफ्टी के समापन- सह- पुरस्कार वितरण समारोह में  उप विकास आयुक्त बिंदु माधव प्रसाद सिंह ने कहा कि यहां अच्छी सड़क निर्माण में हम विकास कर रहे हैं। सड़क का विकास हो रहा है, अब इसपर चलने के लिए लोगों को जागरूक करना है। सड़क सुरक्षा के मानकों को पूरा करना हम सभी की जिम्मेदारी है। इसकी जानकारी स्कूल-कॉलेज के विघार्थियों व आमजनों के बीच होना आवश्यक है। नशा कर वाहन नहीं चलायें, सीटबेल्ट, हेलमेट व जूता पहनकर ही वाहन चलायें, इसकी समझ सभी को होनी चाहिए।  

जिला परिवहन पदाधिकारी शैलेश कुमार ने कार्यक्रम का संचालन करते हुए कहा कि सड़क सुरक्षा से संबंधित सभी मानकों को पूरा किया जाए, तो सड़क दुर्घटना में कमी लायी जा सकती है। इसके लिए जिला प्रशासन के साथ सभी को सहयोग करना चाहिए। उन्होंने पलामू में हो रही सड़क दुर्घटनाओं पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि पिछले 1 साल में सड़क दुर्घटना में कई मौते हुई है। ऐसे में सड़क सुरक्षा के मानकों का ध्यान देना आवश्यक है। लोगों को जागरूक होना जरूरी है। हेलमेट सहित वाहनों की चेकिंग सभी की सुरक्षा के लिए होता है। उन्होंने सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने के लिए समाज के हर व्यक्ति को आगे आने पर बल दिया। कहा कि यह सभी का कर्तव्य है। सभी का दायित्व बनता है कि वे सेफ ड्राइव करें और इसके लिए सभी को जागरूक करें। उन्होंने कहा कि रन फॉर रोड सेफ्टी के आयोजन से न केवल समाज में जागरूकता आएगी, बल्कि आमजन भी यातायात नियमों के प्रति जागरूक होंगे।सदर एसडीओ सुरजीत कुमार ने कहा कि बिना हेलमेट, जूता पहने व बिना सीट बेल्ट लगायें घरवालों को बाहर नहीं निकलने दें। आप सभी छात्र-छात्राएं अपने अभिभावकों को सड़क सुरक्षा के मानकों का अनुपालन कराने के लिए प्रेरित करें। रन फॉर रोड सेफ्टी कार्यक्रम में जिला प्रशासन के पदाधिकारी/कर्मचारी के अलावा जिले के विभिन्न सरकारी एवं गैर सरकारी विद्यालयों के शिक्षक व छात्र छात्राओं ने भाग लिया। 

रन फॉर रोड सेफ्टी कार्यक्रम के तहत इन्हें किया गया पुरस्कृतः

रन फॉर रोड सेफ्टी कार्यक्रम के तहत बेहतर करने वालों को पुरस्कृत किया गया। पुरस्कृत होने वालों में डे बोर्डिंग स्कूल के मो. नसीम और दिलीप प्रजापति तथा केजी स्कूल की कुमकुम कुमारी शामिल थे। इसके अलावा सड़क सुरक्षा से संबंधित नाटक की  प्रस्तुति में बेहतर अभिनय के लिए विरेंद्र चंद्रवंशी और बेहतर ट्रैफिक व्यवस्था के लिए प्रभारी सरस कुमार को पुरस्कृत किया गया।