खूँटी//पाकिस्तान और बांग्लादेश में रह रहे अल्पसंख्यकों को आत्मसात करने के लिए है सीसीए और एनआरसी कानून यहां के लोगों को निकालने के लिए नहीं- कुलस्ते

पाकिस्तान और बांग्लादेश में रह रहे अल्पसंख्यकों को आत्मसात करने के लिए है सीसीए और एनआरसी कानून - कुलस्ते 

खूँटी (हि.स.) : जो व्यक्ति देश से बाहर जाकर किसी कारण वश रह रहे हैं। और उन्हें प्रताड़ित किया जा रहा है,उनके इज्जत के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है , जिन्हें कानून के तहत यहां आत्मसात् करने के लिए देश में सीएए और एनआरसी कानून लागू की गई है। इस देश में अल्पसंख्यक को कोई दिक्कत नहीं है । यह कोई नया नहीं इसे कांग्रेस बहुत पहले इसे लागू करने की बात कही थी । जिसे आज भाजपा ने लागू किया । यह बात बतौर मुख्य अतिथि केंद्रीय इस्पात राज्यमंत्री फगन सिंह कुलस्ते ने भाजपा प्रायोजित कार्यक्रम सीएए और एनआरसी कानून पर संगोष्ठी सभा के दौरान कही।

       सीएए और एनआरसी कानून संगोष्ठी कार्यक्रम का विधिवत् उद्घाटन केंद्रीय इस्पात राज्यमंत्री फगन सिंह कुलस्ते, पद्मश्री कड़िया मुंडा, राज्यसभा सदस्य समीर उराँव, विधायक नीलकंठ सिंह मुंडा ने संयुक्त रूप से भारतमाता और श्यामा प्रसाद मुखर्जी के चित्र पर माल्यार्पण और दीप प्रज्वलन कर कार्यक्रम का विधिवत उद्घाटन किया।

        बतौर मुख्य अतिथि इस्पात राज्य मंत्री ने कहा हमारे देश में जिस प्रकार अल्पसंख्यकों को सम्मान के साथ जीवन यापन करने का समझौता किया गया था उसी प्रकार पाकिस्तान में भी वहां के अल्पसंख्यकों  को सम्मान जीवन व्यतीत करने के लिए कानून संवत प्रावधान बनाया गया था । परंतु आज वहां उस समय की अपेक्षा में अभी अल्पसंख्यक हिंदू , सिख, ईसाई नाम मात्र के रह गए हैं ।  जबकि जनसंख्या के दृष्टिकोण से कहीं न कहीं प्रताड़ित किया गया और धर्म परिवर्तन किया तभी जनसंख्या में कमी आई  है। इसलिए उस समय भी कांग्रेस ने इसे लागू करने के लिए बात कही थी, परंतु आज यही लोग विरोध कर लोगों को दिग्भ्रमित कर रहे हैं। इससेे किसी को घबराना या डरना नहीं है । पाकिस्तान और बांग्लादेश में रह रहे अल्पसंख्यकों को आत्मसात करने के लिए सीसीए और एनआरसी कानून बना है। किसी भी अल्पसंख्यकों को ना सताया जाएगा ना ही भगाया जाएगा । यह कानून भगाने के लिए नहीं बल्कि बसाने के लिए बना है।

      आम नागरिकों को सभा में संबोधित करते हुए पद्मश्री कड़िया मुंडा ने कहा कि देश का भविष्य को इस देश के एक सौ तीस करोड़ जनता को ही उत्थान करना है और विचार करना है। भारत विश्वगुरू न बन  वामपंथी को इस बात का डर सता रहा है । इसलिए कांग्रेस का सहयोगी होने के कारण और स्वार्थी सत्ता लोभ के कारण देश को आग लगाने का काम कर रही है। नीलकंठ सिंह मुंडा ने कहा कि यह देश सभी का और यहां सदियों से रह रहे सभी नागरिकों के लिए है । बाहर से आने वाले प्रताड़ित लोगों को पुनः अपना देश में इज्जत के साथ जीवन यापन कराने का आधार सीएए और एनआरसी कानून है ।

        इस सीएए और एनआरसी कानून पर संगोष्ठी कार्यक्रम में राज्यसभा सदस्य समीर उराँव, भाजपा जिला अध्यक्ष कांसीनाथ महतो, बीस सूत्री उपाध्यक्ष ओमप्रकाश कश्यप, नगर पंचायत उपाध्यक्ष राखी कश्यप, बीस सूत्री प्रखंड अध्यक्ष संजय साहु, जगरनाथ मुंडा, सावित्री देवी, मंजू देवी, राम ध्यान सिंह , चंद्रशेखर गुप्ता, आदित्य प्रसाद गुप्ता, कैलाश महतो, विहिप अध्यक्ष विनोद जयसवाल बजरंग दल संयोजक विशाल साहू, प्रांतीय श्रद्धा जागरण प्रमुख मुसाफिर विश्वकर्मा, महावीर कुमार के अलावे भाजपा विश्व हिंदू परिषद बजरंग दल आर एस एस के कार्यकर्ताओं के अलावे सैकड़ों आम नागरिक व व्यवसाई उपस्थित थे । कार्यक्रम का संचालन जिला महामंत्री कृपासिंधु बेहरा और धन्यवाद ज्ञापन नगर अध्यक्ष अर्जुन पाहन ने किया । कार्यक्रम का समापन संजय साहू द्वारा वंदे मातरम गान के साथ अंत हुआ ।