खूंटी//रणछोड़ जी बापू चेरीटेबल ट्रस्ट का निशुल्क मोतियाबिंद शिविर का सातवां दिन संपन्न

बच्चा हो या बूढ़ा मोतियाबिंद किसी को भी हो सकता है- डा॰ रचिता 

खूंटी (23जन ) : रणछोड़ दास जी बापू नामक संस्था द्वारा नि: शुल्क मोतियाबिंद शिविर का आज 7वें दिन सभी मरीजों का सफलता पूर्ण ऑपरेशन पूरा हुआ ‌। आपरेशन का आयोजन  आगामी अप्रैल माह तक चलेगी।आज यहां संस्था की डा. रचिता पटेल ने खूंटी प्रेमनगर के एक 7वर्षीय बच्चे आयुष तोपनो का एक आँंख आपरेशन कर उसे रोशनी प्रदान की‌। आयुष बचपन से ही दोनों आंखों से देखने में असमर्थ था।डॉ रचिता पटेल ने बताया कि ऐसा नहीं है कि मोतियाबिंद सिर्फ वृद्धावस्था में हो सकता है। ज्ञात हो कि आयुष टोपनो को दोनों आँखों में जन्म से ही मोतियाबिंद है। बचपन से ही आँखों के संघर्ष से जूझते आयुष को आज सर्जरी के बाद नयी दृष्टि मिली। चाहे जिस माध्यम से हो एसजीवीएस संचालित दयानन्द नेत्रालय यहां के नेत्र रोगियों के लिए वरदान साबित हो रहा है।

      आज राजकोट के श्री रणछोड़ दास बापू चैरिटेबल हॉस्पिटल के सर्जन ने आयुष के एक आंँख का मोतियाबिंद का ऑपरेशन किया। आयुष आज बहुत खुश है, उसे अब सब कुछ बेहतर दिखने लगा है। वह खुश हैं कि अब वह अच्छे ढ़ंग से अपनी पढ़ाई कर सकेगा तथा डॉक्टर बनने के अपने स्वप्न को पूरा कर सकेगा।उसके दूसरे आँंख का ऑपरेशन 45 दिन बाद होगा ।