खूँटी//बसंत पंचमी कि नजदीक आने के साथ-साथ मूर्तिकार रूप देने लगे हैं मूर्तियों को

सरस्वती पूजा के लिए आकार  देने लग गए हैं मूर्तिकार

खूँटी(26जन.) : बसंत ऋतु के आगमन के पूर्व बसंत ऋतु में पंचमी तिथि को होने वाले सरस्वती पूजा की तैयारी बाजारों में देखने लगी है। 

       सरस्वती पूजा बसंत ऋतु के पंचमी तिथि को मनाने जाने वाली है इसके लिए मूर्तिकार सरस्वती मां की मूर्ति बनाने में जुट गए हैं । खूंटी जिले के लिए खूंटी नगर में ही मूर्तियां बनाई जाती हैं । जो जिले की विभिन्न क्षेत्रों में विद्यार्थी और क्लब तथा समितियांँ मुर्तियांँ ले जाते है ‌‌‌। मूर्तिकार 500 रुपैया कीर्ति से लेकर हजारों रुपए तक की मूर्तियां बनाते हैं कला और सुंदरता और आकार तथा सजावट के अनुसार मूर्तियों के शुल्क मूर्तिकार लेते हैं और यही साल भर का कमाई मूर्तिकार के लिए होता है। जिससे वह गरीब मूर्तिकार साल भर इसी पैसों से जीवन यापन करते हैं।

      बता दें कि, खूंटी शहर की कई स्थानों में बंगाल से आकर यहीं पर रह कर के सुंदर-सुंदर अनेक कलाकृति के सरस्वती मां की मूर्तियों का निर्माण कर रहे हैं। जैसे-जैसे समय नजदीक आता जा रहा है । वैसे ही मूर्तिकार मूर्तियां बनाने में स्पीड पकड़ रहे हैं‌। छोटे-छोटे बच्चों के द्वारा सरस्वती पूजा की तैयारी में चंदा भी करने लगे हैं । साथ ही क्लब बनाकर समितियां बनाकर लोग पूजा करने के लिए लोगों से सहयोग लेने में जुट गए हैं ‌। इस प्रकार सरस्वती पूजा यानी बसंत पंचमी के उत्सव का माहौल सा दिखाई देने लगा है ‌।