छत्तरपुर के गुलाबचंद प्रसाद अग्रवाल इंटर कॉलेज में बड़े पैमाने पर वित्तीय अनियमितता.

वित्तीय अनियमितता की जांच करने की मांग किया: व्याख्याता प्रदीप कुमार

पलामू जिले के छत्तरपुर के सड़मा स्थित गुलाबचंद प्रसाद अग्रवाल इंटर कॉलेज में बड़े पैमाने पर वित्तीय अनियमितता होने का मामला प्रकाश में आया है। इस संबंध में कॉलेज के वाणिज्य व्याख्याता प्रदीप कुमार ने  अनुमंडल पदाधिकारी छत्तरपुर सह सचिव शासी निकाय गुलाबचंद प्रसाद अग्रवाल इंटर कॉलेज सड़मा को पत्र लिखकर कॉलेज के प्रभारी प्राचार्य प्रियरंजन पाठक द्वारा किए जा रहे मनमानी,तानाशाही एवं द्वेष पूर्ण रवैया और वित्तीय अनियमितता के खिलाफ लिखित शिकायत दर्ज कराया है। आवेदन में कहा है कि प्रभारी प्राचार्य प्रियरंजन पाठक द्वारा मनमानी किया जा रहा है। वही दिए गए आवेदन पत्र में व्याख्याता प्रदीप कुमार ने  लिखा है कि बिना कोई कारण बताये स्पष्टीकरण मांगा जा रहा है। जबकि उस तिथि को प्रभारी प्राचार्य खुद अनुपस्थित रहते हैं। उन्होंने कहा कि बिना कॉलेज सचिव के आदेश/निर्देश प्राप्त किए ही दिसंबर 2019 का मानदेय रोकते हुए निलंबित की प्रक्रिया किया जा रहा है। जबकि  खुद प्रभारी प्राचार्य नियमानुसार कार्य नहीं करते हैं। झारखंड अधिविध परिषद रांची के  नियम विरुद्ध 10 दिनों तक कॉलेज में शीतकालीन अवकाश घोषित किया है। जबकि कोई भी कर्मचारी अवकाश की मांग प्रभारी प्राचार्य से नहीं किया था। इस बाबत अनुमंडल पदाधिकारी सह सचिव को अनेकों बार प्रभारी प्राचार्य के विरुद्ध सूचना दिया लेकिन करवाई नहीं किया गया। उन्होंने यह भी लिखा है कि 12 लाख रुपए अलमारी में बेतरतीब ढंग से बरामद  करने के बाद भी करवाई नहीं किया गया। लाखों रुपए का नगद भुगतान किया जा रहा है जो नियमानुसार गलत है।  प्रभारी प्राचार्य के द्वारा 80 लाख रुपये सावधि जमा किया गया क्या शासी निकाय के निर्णय के बिना भारी वित्तीय संबंधी कार्य किया जा सकता है। कॉलेज कर्मियों ने प्रभारी प्राचार्य द्वारा व्याप्त अनियमितता एवं तानाशाही रवैया अपनाने के लिए प्रियरंजन पाठक को निलंबित करते हुए उच्च अधिकारियों से जांच कराने की मांग किया है। आवेदन पत्र की प्रतिलिपि  उपायुक्त पलामू, सचिव/ निदेशक स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग रांची, सचिव जैक रांची, क्षेत्रीय शिक्षा उपनिदेशक पलामू, जिला शिक्षा पदाधिकारी पलामू, क्षेत्रीय विधायक छत्तरपुर, एवं मुख्यमंत्री जनसंवाद रांची को भी दिया है.