जिला विधिक सेवा प्राधिकार खूंटी के तत्वावधान में नगर भवन डाक बंगला रोड, खूंटी में \\

देश का संविधान सर्वोपरि है, आवश्यकता है इस दिशा में जागरूक होने की.

राष्ट्रद्रोह के नाम पर ना हो पत्थरगड़ी, यह समाज के लिए है घातक - जस्टिस पाठक

Video.   

 यह भी पढ़े 51 परीक्षा केंद्रों पर इंटर की परीक्षा शुरू हो गई है


खूंटी (02फर.) : आज खूंटी नगर भवन के सभागार में डालसा के द्वारा बाल सुरक्षा अधिकार एवं जनजातीय सुरक्षा मामले पर  जन जागरण कार्यक्रम रखा गया था ‌।  इस निमित्त  मुख्य अतिथि झारखंड उच्च न्यायालय के न्यायाधीश एसएन पाठक जस्टिस विमला पाठक तथा जस्टिस अभय कुमार सिन्हा संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित करके कार्यक्रम का शुभ उद्घाटन किए ।  इस अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि जस्टिस पाठक ने कहा कि जनजातीय समाज देश के संस्कृति के धरोहर हैं । जिन्हें कायम रखना आवश्यक है । परंतु जो गलत रास्ते में अनजाने से चले जाते हैं उन्हें रोकना समाज का कर्तव्य बनता है । खूंटी क्षेत्र के वर्तमान ज्वलंत परिस्थिति और समस्या  पत्थलगड़ी जैसे बातों को रखते हुए उन्होंने कहा कि पत्थरगड़ी समाज  और देश के लिए एक विकराल समस्या बनती जा रही है । उन्होंने कहा कि पत्थरगड़ी होनी तो चाहिए परंतु संविधान के तहत होनी चाहिए ना कि देश विरोधी और देश को तोड़ने के लिए नहीं हो। यहां देश विरोधी गतिविधियों को लाकर पत्थर गाड़ी के नाम पर सीधे साधे लोगों को गुमराह किया जा रहा है ।

लोगों से अपील करते हुए कहा कि  लोग गुमराह या दिग्भ्रमित ना हो । समाज उस रास्ते पर चले , जिससे सभी का भला हो । उन्होंने कहा कि आपका विकास सरकार और कानून दोनों जनजातीय समाज के साथ हैं। 

     शिक्षा जगत के क्षेत्र में बात करते हुए श्री जस्टिस ने मंच में उपस्थित विशिष्ट अतिथि भवन निर्माण सचिव आईएएस ऑफिसर प्रवीण टोप्पो और राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को जनजातीय समाज की अग्रणी मानते हुए कहा कि विकसित समाज तब कहा जाएगा जब झारखंड के प्रत्येक व्यक्ति प्रवीण टोप्पो और हेमंत सोरेन बन जाए, तभी पूर्ण शिक्षित और विकसित जनजातीय समाज कहा जा सकेगा। 

बतौर विशिष्ट अतिथि जस्टिस अभय कुमार सिन्हा ने कहा कि कानून का जानकारी या शिक्षा केवल कचहरी से संबंधित व्यक्ति मात्र को नहीं होनी चाहिए । बल्कि देश और समाज के सभी लोगों को कानून और संविधान की जानकारी रहनी चाहिए । इसके लिए नालसा झालसा और दाल सा तीनों अपने अपने क्षेत्र पर कानून संविधान और नियम की जानकारी समय-समय पर पूरे क्षेत्र में देते हैं ‌। समाज पढ़ा-लिखा और शिक्षित रहेगा तभी देश के लोग सही रास्ते पर चल पाएंगे और जानकारियां सही हो पाएगी। 

     बतौर विशिष्ट अतिथि भवन निर्माण विभाग के झारखंड सरकार के सचिव प्रवीण टोप्पो ने कहा कि हमारा विभाग इसके लिए हमेशा तत्पर रहेगा जिसमें  सभी के लिए भवन के मामले में त्वरित कार्य हो ऐसा प्रयास हमेशा रहेगा।

   इसके पूर्व स्वागत भाषण देते हुए मुख्य अतिथि, विशिष्ट अतिथियों , तथा आगंतुकों का स्वागत कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए जिले के उपायुक्त श्री सूरज कुमार ने सभी का स्वागत किया।

      

        इस निमित्त जिले में खेल और अन्य क्षेत्रों में जिले की प्रसिद्धि दिलाने में सहयोग करने वाले लोगों को भी प्रोत्साहित किया गया। इन्हें मुख्य अतिथि श्री एसएन पाठक द्वारा राशि के साथ कुछ सामग्रियांँ देकर सम्मानित किए। परंतु शिक्षा के क्षेत्र में मैट्रिक इंटर या स्नातक या अन्य प्रतिष्ठा पर उत्कृष्ट अंक प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों को जिले में प्रथम स्थान  पाने वाले लोगों को ना ही बुलाया नहीं गया था , और ना ही इनको कोई प्रोत्साहन राशि या सहयोग का नाम ही आया । जोकि क्षेत्र में शिक्षा जगत के क्षेत्र में चाहे वह मैट्रिक इंटर स्नातक या उच्च शिक्षा के लिए क्षेत्र का नाम रोशन किया हो वैसे लोग यहां दिखाई नहीं पड़े।

           

कार्यक्रम में कुल 45 करोड़ की परिसंपत्तियों का किया गया वितरण

इस दौरान विभिन्न विभागों यथा श्रम विभाग, ग्रामीण विकास विभाग, शिक्षा विभाग, समाज कल्याण विभाग, कल्याण विभाग, स्वास्थ्य विभाग, कौशल विकास विभाग, सामाजिक सुरक्षा विभाग, मनरेगा एवं अन्य सरकारी विभागों की लाभकारी योजनाओं की सहायता लाभुकों में वितरित की गई। साथ ही विविध परिसंपतियों का वृहद वितरण किया जाएगा। इसमें समाज कल्याण विभाग से संबंधित मामले जैसे कन्यादान, व्हीलचेयर, ट्राई साइकिल आदि, आपूर्ति विभाग के अंत्योदय राशन कार्ड, जन वितरण प्रणाली आदि, शिक्षा विभाग से मानव व्यापार से बरामद बच्चों का स्कूली में प्रवेश आदि, सामाजिक सुरक्षा से संबंधित वृद्धावस्था पेंशन, विधवा पेंशन इत्यादि, श्रम विभाग से संबंधित लाभ, ग्रामीण विकास विभाग तथा मनरेगा के तहत जॉब कार्ड का वितरण, स्वास्थ्य विभाग के द्वारा दिये जारहे लाभ, चिकित्सा अनुदान, असंगठित क्षेत्र के मजदूरों को दिए जाने वाले लाभ व मत्स्य विभाग द्वारा ऑटो रिक्शा व अन्य लाभों का वितरण किया जाएगा। इसके साथ ही खूंटी का नाम देश भर में रौशन करने वाले दिव्यांग बच्चों के बीच क्रिकेट किट का वितरण किया गया।