रविदास समाज द्वारा संत रविदास जी की 643 वी जयंती समारोह का आयोजन किया

डोमचंचा प्रखंड के रूपडीह     बगीचा में रविदास समाज द्वारा संत रविदास जी की 643 वी जयंती समारोह का आयोजन किया गया ।कार्यक्रम में सबसे पहले सुबह 10:00 बजे संत गुरु रविदास जी के तस्वीर पर पूजा अर्चना कर  माल्यार्पण  किया गया उसके बाद ग्रामीण महिला, पुरूष, युवा और बच्चों सहित सैकड़ों के संख्या ग्रामीणों द्वारा एक सोभा यात्रा निकाली गई जो रूपंडीह से होते हुवे डोमचांच बाजार रोड़ से शाहिद चौक होते हुवे वापस रूपंडीह पूजा स्थल पर आकर एक सभा में तब्दील किया गया।कार्यक्रम में गुरु जी के जीवन पर चर्चा की गई उपस्थित वक्ताओं ने संत गुरु महाराज के जीवन के मूल मंत्र "मन चंगा तो कठौती गंगा" पर विचार रखते हुए विस्तार से कहा कि समाज में फैले जात पात ऊंच-नीच और भेदभाव से ऊपर उठकर हम सभी को अपना मन अपनी आत्मा को शुद्ध करने की आवश्यकता है क्योंकि जहां आत्मा की सुद्धता है वहीं पर गंगा है और वहीं पर परमात्मा है ,।कार्यक्रम की अध्यक्षता श्री राज कुमार दास , एवं संचालन श्री सुनील कुमार दास ने किया ,मौके पर मुखिया कुमुद देवी, श्री मुंशी दास रूपचंद दास ,अशोक दास पवन कुमार ,भागवत खटीक  लाल बिहारी दास ,अनिल कुमार ,अखिल कुमार राजदीप कुमार,  मनोज दास ,बलदेव दास जीतू दास, बसंत कुमार रवि महेन्द्र दास ,जगदीश दास ,परमेश्वर दास भुनेश्वर दास, संजय दास टुकनारायन दास ,लखन दास लक्ष्मी कांत प्यारेलाल ,महेस दास ,शिवकुमार दास राजू दास, बाबूलाल दास, दुर्गा दास मीना देवी ,कंचन देवी, रजनी देवी ,शांति देवी ,कलवा देवी, सहित सैकड़ों के संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे।