खूँटी//निःशुल्क मोतियाबिंद सर्जरी और अंधता निवारण में खूंटी जिला के बढ़ते कदम।

निःशुल्क मोतियाबिंद सर्जरी और अंधता निवारण में खूंटी जिला के बढ़ते कदम। 


ब्रजेश कुमार

खूंँटी  : जिले के एस जी वी एस अस्पताल एवं राजकोट की संस्था 'रणछोड़ दास जी बापू ट्रस्ट" के तत्वावधान में खूंटी जिला मुख्यालय के एस जी वी एस अस्पताल में निःशुल्क मोतियाबिंद सर्जरी शिविर पिछले 16 जनवरी से चल रहा है। यह शिविर आगामी 15 अप्रैल 2020 तक चलेगा। स्वयंसेवी संस्थाओं की इस मुहीम को जिला प्रशाशन एवं स्वास्थ्य अमले का सहयोग भी मिल रहा है। 

      सहयोगात्मक निर्देशन में मुरहू  ब्लॉक की सहिया दीदी, ब्लॉक ट्रेनर नमिता मांझी, जयलेन ने जिला सयोजक उदयन शर्मा के नेतृत्व में इस अंधापन उन्मूलन अभियान में महती भूमिका निभाई है। सहिया बहनों के सहयोग से खूंटी  में निःशुल्क मोतियाबिंद शिविर में प्रतिदिन 60 निःशुल्क ऑपरेशन नियमित हो रहे है। सहिया दीदी लोगों को प्रोत्साहन राशि 250 रुपए प्रति रोगी दिया जा रहा है। रोगियों की स्क्रीनिंग, उनके मार्गदर्शन और परामर्श में ब्लॉक के ऑप्थलमिक सहायक भी पूरे उत्साह से सहयोग कर रहे हैं। 

       खूंटी जिले के एस जी वी एस अस्पताल में "संकल्प नेत्र  ज्योति", महात्मा नारायण दास ग्रोवर के द्वारा 1983 में शुरू किया गया था। यहां अब तक 50000 लाभुकों को नेत्र ज्योति प्रदान किया जा सका है। निःशुल्क शिविर में गुजरात के नेत्र सर्जन के अलावा, राज्य के ख्यातिप्राप्त सर्जन डॉक्टर राजमोहन के नेतृत्व में डॉ दीपक मरियानूस, नेपाल के डॉक्टर इन्द्रनाथ, मदुरै के डॉक्टर सैमुएल टोपनो भी मंगल और शुक्रवर को नियमित सर्जरी कर रहे है । इस केंप के संचालक प्रवीण बसानी, चंद्रकांत राय पत और उनकी टीम को संस्था के अध्यक्ष कड़िया मुंडा ने निस्वार्थ सेवा के लिए आभार जताया है।  एस जी वी एस  के कार्ययोजना सलाहकार   देवाशीष आगामी महीनों के रोगियों की स्क्रीनिंग केंप हेतु एकल अभियान,रोमन चर्च के धर्मप्रान्त प्रमुख एवं अन्य समाजिक संगठनों की सहभागिता एवं  सक्रियता के लिए लगातार प्रवास कर रहे है।  

अंधता निवारण हेतु नेत्र चिकित्सा कैंप में भी सिविल सर्जन की भूमिका अहम

        इस अंधता निवारण अभियान एवं निःशुल्क मोतियाबिंद शिविर के संचालन में जिला प्रशासन का सहयोग एवं मार्गदर्शन प्रभावी है।  उपायुक्त एवं सिविल सर्जन ने इस अभियान को अपनी शुभकामनायें दी है और आवश्यक सहयोग समय समय पर उपलब्ध कराए हैं।  यहां ध्यान देने योग्य बात है कि पूरे देश भर में आकांक्षी जिलों की दिसंबर माह की डेल्टा रैंकिंग में, खूंटी जिला "स्वास्थ्य" में किये गए कार्य को ले कर चतुर्थ स्थान पर आया है। भारत सरकार द्वारा खूंटी जिले को इस उपलब्धि के लिए एवं स्वास्थ्य की बेहतर योजना एवं क्रियान्वयन हेतु 3 करोड़ रुपये की पुरस्कार राशि दी गयी है।  उपायुक्त श्री सूरज कुमार ने इसके लिए खूंटी सिविल सर्जन डॉ प्रभात कुमार  स्वास्थ्य विभाग की टीम एवं सहयोगी स्वयंसेवी संस्थाओं को धन्यवाद दिया है। हमारी खास बातचीत में सिविल सर्जन डॉ प्रभात कुमार ने कहा कि यह सभी के प्रेम, सहयोग, सहभागिता, परिश्रम और जागृति का नतीजा है। खास कर आयुष्मान योजना के अंतर्गत sgvs ने  नेत्र रोग में झारखण्ड में उल्लेखनीय सेवा दी है।