खूंटी// जिले में कुपोषण व एनेमिया दूर करेंगे आयुष चिकित्सक

जिले में कुपोषण व एनेमिया दूर करेंगे आयुष चिकित्सक

खूँटी : राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तत्वावधान में सदर अस्पताल, खूँटी  के सभागार में राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत पांच दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला में जिले के सभी चिकित्सा प्रभारी, आयुष (आरबीएसके) शामिल थे। 10 फरवरी से आरंभ इस कार्यशाला में  4डी के संबंध में विस्तार से चर्चा की गई। इस दौरान बच्चों की जन्मजात विकृति, विटामिन, कुपोषण से कमी, डेवलपमेंट डिले एवं बच्चों में पाए जाने विभिन्न बिमारियों पर विस्तृत प्रकाश डाला गया।

         इसके पूर्व कार्यशाला का उद्घाटन करते हुए सिविल सर्जन डाॅ प्रभात कुमार ने कहा कि चिकित्सा पदाधिकारियों, आयुष (आरबीएसके) द्वारा समाज में बच्चों के स्वास्थ्य के प्रति विशेष ध्यान दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि ग्रामाीण क्षेत्रों में बढ़ रही कुपाषोण व एनेमिया की कमी से होने वालीे मृत्यु को दर कम करना चिकित्सा पदाधिकारियों के लिए चुनौती है।

        बताया गया कि इस कार्यक्रम के तहत  आंगनबाड़ी केंद्रों के छह माह से लेकर छह वर्ष के बच्चों का  एवं सरकारी विद्यालयों के छह वर्ष से 18 बर्ष उम्र के बच्चों के स्वास्थ्य की जांच की जाती हे। साथ ही बीमार व अति  गंभीर बीमार बच्चों को आरबीएसकेे टीम द्वारा स्क्रीनिंग कर उन्हें सदर अस्पताल, खंूटी रेफर किया जाता है।

      मौके पर जिला आरसीएच पदाधिकारी, डाॅ अजित खलखो ने कहा कि यह कार्यक्रम बच्चों व समाज के लिए वरदान है। 

कार्यशाला में डाॅ एराॅन होरो, डाॅ पिंटू कुमार राय सहित आयुष चिकित्सक व अन्य मौजूद थे।