खूँटी//किसानों के ऋण देने के लिए 25 फरवरी तक आयोजित की जाएगी ऋण शिविर

प्रखण्डों में शिविर आयोजित कर पीएम किसान सम्मान निधि योजना के लाभुक किसानों के बीच किया जाएगा केसीसी ऋण का वितरण: उपायुक्त


किसानों के ऋण देने के लिए 25 फरवरी तक आयोजित की जाएगी ऋण शिविर


खूँटी ! उपायुक्त श्री सूरज कुमार द्वारा जानकारी दी गई है कि सरकार द्वारा एक विशेष अभियान शुरू किया गया है। इसमें प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के लाभुक किसानों के लिए रियायती संस्थागत साख तक सार्वभौमिक पहुंच की सुविधा प्रदान की जाएगी। जिसके तहत् रियायती संस्थागत ऋण का लाभ उठाने के लिए किसान लाभार्थियों को किसान क्रेडिट कार्ड जारी करने की सुविधा दी जाएगी। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के लाभुक किसानों के बीच किसान क्रेडिट कार्ड योजनांतर्गत कृषि कार्य, पशुपालन एवं मत्स्य पालन के लिए ऋण का वितरण किया जाना है।  खूंटी जिला में कुल 45 हजार 900 किसानों को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ दिया जा रहा है। इस योजना के लाभुक किसानों के बीच 25 फरवरी तक जिला के सभी प्रखण्डों में शिविर का आयोजन कर प्रक्रिया पूर्ण करते हुए ऋण का वितरण किया जाएगा। केसीसी का लाभ अब पशुपालन और मत्स्य पालन किसानों को भी दिया जाएगा।  वे किसान जो केसीसी धारक हैं तथा जिन्हें अब तक केसीसी का लाभ न मिला हो और पशुपालन व मत्स्य पालन गतिविधियाँ भी करते हैं, वे अतिरिक्त सीमा के अनुमोदन के लिए संबंधित बैंक शाखा से संपर्क कर सकते हैं। साथ ही 3 लाख तक के लोन के लिए प्रोसेसिंग, डॉक्यूमेंटेशन, इंस्पेक्शन और लेसर फोलियो के साथ ही अन्य सर्विस चार्ज सहित सभी शुल्क माफ कर दिए गए हैं । और धान की खेती के लिए किसानों को प्रत्येक एकड़ लगभग 58 हजार रूपये तक का ऋण दिया जाता है। उपायुक्त ने खूंटी जिलांतर्गत प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के वैसे लाभुक जिन्हे अबतक किसान क्रेडिट योजना के तहत् ऋण नहीं मिला है, कृषि कार्य हेतु अपने आवश्यकतानुसार आवेदन कर बैंक से ऋण लेने की अपील की है। इसके साथ ही उपायुक्त ने बताया सभी पीएम किसान सम्मान योजना के लाभार्थियों को केसीसी के लिए स्वतः स्वीकृत किया गया है और लाभ प्राप्त करने के लिए भरे गए फार्म के साथ भूमि दस्तावेजों की एक प्रति और फसल के विवरण के साथ निकटतम बैंक शाखा का दौरा करने की बात कही 

जिले के उपायुक्त ने अग्रणी बैंक प्रबंधक व डीडीएम नबार्ड सहित सभी बैंकों को निर्देशित किया गया वे आगामी 25 फरवरी तक विशेष शिविरों का आयोजन करना सुनिश्चित करेंगे। साथ ही प्रपत्रों को स्वीकार करने के लिए एक अलग खिड़की प्रदान करें तथा कम से कम 14 दिनों के भीतर केसीसी लोन को मंजूरी दें। उन्होंने बैंक शाखाओं को सलाह दी है कि वे ऐसे किसान लाभार्थियों की सूची तैयार करें, जिनके पास केसीसी नहीं है और लाइन विभागों के सरकारी अधिकारियों के साथ साझा करें, ताकि उन्हें केसीसी लाभ प्राप्त करने के लिए संपर्क किया जा सके।