खूँटी//कर्रा प्रखंड के लरता पंचायत में सरकार आपके द्वार कार्यक्रम का आयोजन

कर्रा प्रखंड के लरता पंचायत में सरकार आपके द्वार कार्यक्रम का आयोजन

 

सभी जरूरतमंद लोगों को मिले राशन कार्ड का लाभ-- उपायुक्त


खूँटी क्षेत्र के सभी पात्र व्यक्तियों को कल्याणकारी योजनाओं का लाभ सुगमतापूर्वक उपलब्ध कराने के लिए आज जिला के कर्रा प्रखंड अंतर्गत लरता पंचायत में उपायुक्त, खूंटी श्री सूरज कुमार के नेतृत्व में सरकार आपके द्वार ' कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस दौरान जिले के विभिन्न विभागों के अधिकारियों ने विभाग के तहत संचालित योजनाओं की विस्तार से जानकारी दी और लाभ उठाने की अपील की। तत्पश्चात ग्रामीणों से उनकी समस्याओं की जानकारी ली गई ‌।  इस दौरान उपायुक्त ने ग्रामीणों से सीधा संवाद कर अपनी समस्याएं रखी। इनमें मुख्य रूप से प्रधानमंत्री आवास योजना, राशन कार्ड, चापानल मरम्मती, सामाजिक सुरक्षा, म्यूटेशन, जमीन रजिस्ट्रेशन आदि से संबंधित थीं। उपायुक्त ने गरीबों का राशन, विधवा पेंशन, वृद्धा पेंशन, प्रधानमंत्री आवास योजना के मामले इत्यादि शिकायतों में त्वरित गति से निष्पादन करने के लिए सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया। इस दौरान बताया गया कि जो शिकायत, पंचायत, ब्लॉक व अंचल से लंबित रह जाती है या रह गई है, उनका त्वरित गति से निष्पादन किया जाएगा। 

   मौके पर गांव के युवाओं द्वारा उनकी समस्याएं उपायुक्त के समक्ष प्रस्तुत की गई। इन समस्याओं पर उपायुक्त द्वारा बताया गया कि सड़क सुरक्षा के प्रति आमजनों को जागरूक करने के लगातार प्रयास किये गए है। उन्होंने दुपहिया वाहन चलाते समय हेलमेट का प्रयोग करने के प्रति सजग किया गया। उन्होंने बताया कि किसी भी प्रकार का नशा का सेवन कर वाहन नहीं चलाना चाहिए। 

साथ ही वाहन सदैव निर्धारित गति सीमा में ही चलाना चाहिए। जल्दीबाजी में वाहनों को ओवर टेक करने की स्थिती में दुर्घटनाएं होती हैं। उपायुक्त द्वारा बताया गया कि सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में कई निर्णय लिए गए हैं। साथ ही इस दिशा में जांच अभियान चलाए जाएंगे। ताकि सड़क दुर्घटनाओं को रोका जा सके।  युवाओं के लिए परीक्षाओं की तैयारियों के लिए पंचायत भवन के एक कमरे में लाइब्रेरी स्थापित करने का आश्वासन दिया गया। उन्होंने बताया कि सभी प्रखण्डों में कोल्ड स्टोरेज का निर्माण कराया जाना है। साथ ही आने वाले 6 महीनों में कर्रा प्रखण्ड में कोल्ड स्टोरेज तैयार हो जाएगा। इसी क्रम में उपायुक्त द्वारा मुद्रा लोन व PMEGP से सम्बंधित आवश्यक जानकारी साझा की गई। साथ ही उन्होंने बताया कि जिला प्रशासन द्वारा पर्यटन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से पर्यटन पर्व मनाया गया है। उन्होंने ग्रामीणों द्वारा बताए गए बाघलता स्थल को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने की बात कही।  विभिन्न विभागों से संबंधित पदाधिकारी मौजूद थे। सभी शिकायतकर्ता की समस्याएँ को सुनने के पश्चात उपायुक्त ने संबंधित विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि सभी आवेदनों का भौतिक जांच करते हुए, उसका समाधान जल्द से जल्द करे। इसके अलावे उन्होंने सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि इन शिकायतों पर त्वरित कार्रवाई की जाय। 

समस्याओं का ऑन द स्पॉट हो समाधान, जिला प्रशासन और आमजनों के बीच सही संपर्क और बेहतर सम्बन्ध स्थापित करना हमारा मूल कर्तव्य-- उपायुक्त

ग्रामीणों ने उक्त विभाग से संबंधित आवेदन दिया। उपायुक्त ने निर्देशित किया कि संबंधित विभाग के स्टॉल में जिन ग्रामीणों का भी आवेदन प्राप्त होता है उन पर गंभीरता पूर्वक करवाई करते हुए ग्रामीणों को उनकी संबंधित समस्या का निष्पादन एवं योजनाओं का लाभ दें। सभी शिकायतकर्ता की समस्याएँ को सुनने के पश्चात उपायुक्त ने संबंधित विभाग के अधिकारियों को निदेशित किया गया कि सभी आवेदनों का भौतिक जांच करते हुए, उसका समाधान जल्द से जल्द करे। इसके अलावे उन्होंने सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि इन शिकायतों पर त्वरित कार्रवाई करते हुए अपना प्रतिपुष्टि उपायुक्त कार्यालय को समर्पित करे, ताकि शिकायतों के निष्पादन में आसानी हो। इस लिए कार्यक्रम स्थल पर निराकरण योग्य समस्याओं का यथासंभव निराकरण भी किया गया। अन्य समस्याओं के समाधान हेतु लोगों को आवश्यक कागजातों के साथ संबंधित अधिकारी से संपर्क करने की सलाह भी दी गयी। 

कार्यक्रम के दौरान कई लोगों द्वारा राशन कार्ड से संबंधित समस्याओं से अवगत कराया गया। जिसपर उपायुक्त ने प्रखण्ड आपूर्ति पदाधिकारी व पीडीएस डीलरों को निर्देश दिया कि वे वैसे लोग जो सक्षम के होते हुए भी राशन का लाभ ले रहे हैं उनकी जांच करना सुनिश्चित करें एवं अधिकारियों को निर्देश दिया कि इस तरह के मामलों पर कार्रवाई करते हुए जरूरतमंद लोगों तक राशन का लाभ निश्चित रूप से पहुंँचाया जाए।

 कार्यक्रम के तहत लोगों के समस्याओं का निराकरण आदि योजनाओं का लाभ प्रदान करने हेतु विभिन्न विभागों की ओर से कई स्टाल लगाए गए थे। उपायुक्त ने आम लोगों को दी जाने वाली योजनाओं का लाभ का जायजा लिया। कार्यक्रम में विभिन्न विभागों के द्वारा स्टॉल लगाकर ग्रामीणों को सरकार द्वारा संचालित लोक जन कल्याणकारी योजनाओं की विस्तृत जानकारी दी गई।

     इस कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उप विकास आयुक्त ने कहा कि आम जनों को इस कार्यक्रम के माध्यम से अपनी समस्याओं का समाधान अपने प्रखंड या पंचायत स्तर पर ही मिल रहा है, आम लोगों को चाहिए कि वे अधिक से अधिक संख्या में इस कार्यक्रम में उपस्थित होकर अपनी समस्याओं का तुरंत समाधान करने की पहल में सरकार के इस योजना का लाभ उठाएँं। उन्होंने कहा कि सरकार आपके द्वार कार्यक्रम ग्रामीण क्षेत्र की जनता के लिए काफी लाभदायक है। उनके समस्याओं को सुनकर उसका त्वरित निदान करने का सक्रिय प्रयास है।

            मौके पर अपर समाहर्ता श्री अरविंद कुमार द्वारा बताया गया कि हमारी प्राथमिकता है कि कोई भी योग्य लाभुक लाभ लेने से वंचित न रहे।  उनके समस्याओं को सुनकर उसका त्वरित निदान करने का प्रयास किया जाय।

इसके लिए हम सभी को एक साथ मिलकर कार्य करने की आवश्यकता है। तभी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम को सफल रूप प्रदान किया जा सकता है।

    इस दौरान भूमि सुधार उप समाहर्ता श्री जितेंद्र सिंह मुंडा द्वारा ग्रामीणों को संबोधित करते हुए बताया गया कि जिस प्रकार आज जिला के अधिकारी जागरूक दृष्टिकोण और परिश्रम से इन स्तर पर हैं उसी प्रकार हर व्यक्ति भी संघर्ष के पथ पर आगे बढ़ सकता है। उन्होंने कहा कि वैसे लोग जो अपनी शिकायत जिला प्रशासन तक नहीं पहुंचा पा रहे हैं, वैसे लोगों को जागरूक करें, ताकि सभी लोगों की समस्याओं को दूर किया जा सके। इसके साथ ही उनके द्वारा बताया गया कि दाखिल-खारिज के मामले, नामांतरण व ऑनलाइन जमीन सुधार से सम्बंधित समस्याओं के लिए हर मंगलवार को सम्बन्धित अंचल कार्यालय में अंचल दीवस के रूप मे मनाया जाता है। आमजन की समस्याओं का त्वरित समाधान किया जाएगा। साथ ही उनके द्वारा Jharbhoomi.nic.in से सम्बंधित जानकारी भी ग्रामीणों को दी गई।

           जिला समाज कल्याण पदाधिकारी द्वारा क्षेत्रीय भाषा मे ग्रामीणों को संबोधित करते हुए बताया  कि अपने बच्चों के उचित विकास हेतु आंगनवाड़ी केंद्रों के माध्यम से मिल रही सुविधाओं का लाभ उठाएं। उन्होंने ग्रामीणों से अपने अधिकार व कर्तव्यों के प्रति जागरूक होने की बात कही। कहा कि समाज व गांव के पढ़े-लिखे व जागरूक लोगों को चाहिए कि वे अन्य लोगों को उनके कर्त्तव्य के प्रति सचेत करें। साथ ही उनके द्वारा समाज कल्याण के तहत संचालित योजनाओं यथा तेजस्वनी, छात्रवृत्ति योजना, कन्यादान आदि योजनाओं के सम्बंध में जानकारी दी गयी। कार्यक्रम में परियोजना निर्देशक आईटीडीए श्री हेमंत सती सहित जिला व प्रखंड स्तरीय सभी अधिकारी शामिल थे। इसके साथ ही कार्यक्रम में भारी संख्या में ग्रामीणों एवं जिले वासियों ने हिस्सा लिया।