खूँटी//प्रेम निरंतर स्वार्थ रहित आनंद बढ़ाने वाला अविनाशी होता है - शुकामृत

प्रेम निरंतर स्वार्थ रहित आनंद बढ़ाने वाला अविनाशी होता है - शुकामृत

खूँटी । हरे कृष्ण प्रचार केंद्र, खूंटी के तत्वाधान में एक दिवसीय भागवत गीता कथा वाचन का आयोजन अंतरराष्ट्रीय कृष्ण भावना मृत संघ के कृष्ण भक्त शुकामृत दास जी ने शुभारंभ किया।  दास जी ने प्रवचन करते हुए कहा कि विलेन आएगा, टाइम देखेगा, डे मनाएगा वैलेंटाइन डे मनाने मत देना। सोचने वाली बात है निर्लज्ज जानवर भी फैशन डिजाइन नहीं करते परंतु मानव अतिरिक्त फैशन कर विपरीत कामवासना को बढ़ावा दे रहा है, पाश्चात्य देशों से चले यह प्रचलन का पके फल, प्यार और रोमांस की अभिव्यक्ति वैलेंटाइन डे है । जिसमें सैंट को हटा दिया गया है , और सिर्फ विलेन ही बचा है! सुनो, एक सुंदर युवा को सुंदर युवती  सुंदर लगती है! एक सुंदर युवती को एक सुंदर युवा सुंदर लगता है। तो इसमें अलग क्या है एक कुत्ते को कुत्तिया भी सुंदर लगती है। यह अमृत वाचन संघ के जिला सत्संग केन्द्र में दे रहे थे। उन्होंने बताया कि, भगवान कृष्ण द्वारा प्रदत मनुष्य और जानवर में विशेष हार्मोन के कारण यह है। आज आधुनिक सभ्यता जानवरों के स्तर पर आ गया है। ऐसे समाज में रहकर हम कैसे वैलेंटाइन से जूझ रहे अपने बच्चे को बचा सकते हैं! पहले जमाने में एक लड़का और लड़की का बात करना आश्चर्यजनक होता था। आज किसी लड़के का गर्लफ्रेंड ना हो तो यह आश्चर्यजनक होता है। हम वह गिरती हुई भारतीय संस्कृति सभ्यता में जी रहे हैं जहां राम राम संबोधन से ज्यादा हाय- बाय सुनाई पड़ता है। यह भारतीय संस्कृति के हृदय पर गहरी चोट है। आगे कथावाचक ने कहा प्रेम की पहचान तीन चीजों से होती है पहला- जिसमें स्वार्थ ना हो, दूसरा- प्यार किसी भी स्थिति में रुकता ना हो और तीसरा- जिसमें आनंद बढ़ता जाता हो। अब आप ही बताएं क्या भौतिक जगत में यह संभव है, नहीं। क्योंकि भागवत गीता में भगवान ने इसे दुखों का घर कहा है! जिसे आप प्रेम समझ रहे हैं वह मात्र प्रेम की परछाई है वह कामवासना है! तेरे  प्यार की उम्र इतनी है सनम,, तेरे  चमड़े से शुरू तेरे चमड़े पर खत्म जिसे आप सुंदर समझकर प्यार कर रहे हैं वह एक दिन बंदर बन जाएगा। परंतु भक्त एवं भगवान का प्रेम निरंतर आनंद बढ़ाने वाला, स्वार्थ रहित ,किसी भी स्थिति में ना रुकने वाला नित्य, अविनाशी एवं प्रलय काल में भी ना मिटने वाला होता है। इसे ईश्वरीय प्रेम कहते हैं। इस आयोजन में आज के यजमान अतिथि वार्ड नंबर 2 के वार्ड कमिश्नर  सोनू कुमार उपस्थित हुए। उन्होंने कृष्ण भक्तों को महाप्रसाद भंडारा के लिए  इडली का सांचा भेंट किया। 

   भागवत कथा के अन्त  में इस कार्यक्रम में आए नगर पंचायत के आए सभी कृष्ण भक्तों के बीच भागवत गीता, हरि नाम महिमा शास्त्र श्री कृष्ण महाप्रसाद का वितरण किया गया।