*हर व्यक्ति सड़क सुरक्षा के मानकों का करें पूर्ण पालन--उपायुक्त*

*सड़क सुरक्षा को लेकर उपायुक्त ने की अधिकारियों के साथ सड़क सुरक्षा समिति की  बैठक

*हर व्यक्ति सड़क सुरक्षा के मानकों का करें पूर्ण पालन--उपायुक्त*

खुँटी ': उपायुक्त की अध्यक्षता में जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक सोमवार को अपने कार्यालय में की। जिसमें दुर्घटनाओं के सम्बंध में विस्तार से चर्चा की गई। तथा इससे बचाव के लिए उपाय और त्वरित कार्रवाई करने का निर्देश भी दिया।

        इस दौरान राष्ट्रीय NH 75E, SH-03 तथा अन्य सड़कों पर हुए सड़को पर दुर्घटना मुक्त किये गए कार्यों की समीक्षा की गई। साथ ही दुर्घटनाओं के आंकड़ों के संभावित कारणों पर विशेष विचार-विमर्श किया गया।

उपायुक्त द्वारा बताया गया कि सड़क सुरक्षा हमारी सामूहिक जिम्मेदारी है। इस दिशा में हर व्यक्ति को सजग होकर सड़क सुरक्षा के मानकों का पूर्ण अनुपालन करना आवश्यक है। साथ ही पथ में निर्मित पुल, रंबल स्ट्रिप कॉन्वेक्स मिरर तथा साइनेज के अद्यतन स्थिति के संबंध में विचार-विमर्श किया गया। मौके पर उपायुक्त द्वारा सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि सभी ब्लाइंड स्पॉट व शार्प टर्निंग पर कॉन्वेक्स मिरर का अधिष्ठापन किया जाना चाहिए। उपायुक्त द्वारा निर्देश दिया गया कि NH75E, SH-03 तथा जिला पथ निर्माण विभाग खूंटी द्वारा निर्मित सभी सड़कों पर चिन्हित दुर्घटना संभावित स्थानों पर बिटुमिनस रंबल स्ट्रिप का निर्माण कराया जाए। इसमें मुख्य रूप से निर्धारित समय सीमा के अंदर बाला मोड़ में व्यवस्थित फाइबर ब्रेकर, बिटुमिनस रंबल स्ट्रीप आदि का जल्द से जल्द निर्माण किया जाय। बिरसा मृग विहार के पास के रोड की मरम्मती कराएं। उन्होंने निर्देशित किया कि सभी पुल पर रिफ्लेक्टिव टेप्स लगाना सुनिश्चित किया जाय। साथ ही 3D पेंटिंग व रिफ्लेक्टिव पेंटिंग कराई जाए। मार्ग में जहां पर घुमवदार स्थान है तथा ब्लाइंड स्पॉट है वहां से 50-100 मीटर पूर्व से साइनेज लगाई जाय। और सड़कों के फ्लेंक साइट की मरम्मती सुनिश्चित की जाए। साथ ही वन विभाग को निर्देश दिया गया कि मार्ग तथा दूरदर्शिता अवरुद्ध करने वाले झाड़ियों की कटाई यथाशीघ्र सुनिश्चित करें। 

मौके पर उपायुक्त द्वारा सिविल सर्जन खूंटी से जिले में 108 एम्बुलेंस सहित अन्य एम्बुलेंस की सुविधा के सम्बंध में जानकारी प्राप्त की गई। साथ ही निर्देश दिया गया कि एंबुलेंस में जीपीएस सिस्टम अधिष्ठापित किया जाय। इसके साथ ही बताया गया कि सीएसआर के माध्यम से आई. ओ.सी.एल व गेल द्वारा एम्बुलेंस उपलब्ध कराए जाएंगे। 

 जिले में लगातार वाहन जांच अभियान चलाए जाने चाहिए, तथा यातायात नियमों का उल्लंघन करने वालों पर त्वरित कार्रवाई की जाय। साथ ही निर्देशित किया गया कि सभी थाना प्रभारी अपने संबंधित क्षेत्र में निरंतर सघन वाहन जांच अभियान चलाएं। इसके अलावा  कर्रा क्षेत्र में नशे का सेवन कर वाहन चलाने वालों के खिलाफ विशेष अभियान चलाया जाय। इसके लिए सभी थानों में ब्रीथ एनेलाइजर उपलब्ध कराए जाएंगे। इसी कड़ी में उपायुक्त द्वारा बताया गया कि यातायात के नियमों का पूर्ण पालन कराने हेतु आम जनों को यातायात व सड़क सुरक्षा के नियम व मानकों के प्रति शिक्षित करना आवश्यक है। 

इस दौरान जिला शिक्षा पदाधिकारी, खूंटी को निर्देश दिया कि बच्चे के अभिभावक विद्यालय दो पहिया वाहन में आने पर हेलमेट अवश्य रूप से पहने और

इसकी अवहेलना करते हैं तो स्थिति में शिक्षकों द्वारा ऐसे अभिभावकों के साथ बच्चों को घर नहीं भेजा जाएगा। इससे अभिभावकों और बच्चों के बीच सड़क सुरक्षा संबंधित सकारात्मक वातावरण का निर्माण किया जा सकता है।

साधनविहीन क्षेत्रों में चलाए जाएँगे सब्सिडाइज्ड ऑटो

 जहाँ आवागमन के साधनों का अभाव वाले सुदूरवर्ती इलाकों में जहां ओवरलोडेड गाड़ियांँ  चलाई जाती हैं वहाँ सब्सिडाइज्ड ऑटो चलाए जाएंगे।  इक्छुक व्यक्ति ऐसे डिफिकल्ट रुट का चयन कर जिला परिवहन कार्यालय में आकर अपना नाम व आवश्यक दस्तावेज के साथ आवेदन कर सकते हैं। साथ ही  पर्यटन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से खूंटी टूरिस्म बस प्रारंभ करने की योजना बनाई जा रही है।जो स्थल व तिथि निर्धारण कर रांची - बिरसा चौक से प्रारम्भ होते हुए जिले के विभिन्न पर्यटन स्थलों के दर्शन हेतु चलाया जाएगा।  पर्यटन स्थलों को विकसित करने के क्रम में विशेषकर दो पर्यटन स्थल पेरवाघाघ व सेनिटेशन पार्क में ठहरने की व्यवस्था की जाएगी। साथ ही वैसे सैलानी जो दो या दो से अधिक दिन के लिए खूंटी दर्शन के लिए आये हों उनके लिए भी आवश्यक व्यवस्थाएं की जाएंगी। साथ ही साइक्लिंग व ट्रैकिंग की व्यवस्था हेतु भी विचार किया जा रहा है। ताकि खूंटी जिले मे पर्यटन का विकास व्यापक रूप से सम्भव हो।

उपायुक्त, खूंटी द्वारा कार्यपालक पदाधिकारी नगर पंचायत को व्यवस्थित पार्किंग व यातायात की सुगमता हेतु अवैध रूप से अतिक्रमण किए गए दुकानों को मुक्त करने की दिशा में आवश्यक दिशा-निर्देश दिए और कहा कि बार सड़क पर लगाए जा रहे ठेलों को स्टेडियम परिसर में लगाया जाय। 

उपायुक्त ने जिला जनसंपर्क पदाधिकारी, खूंटी को निर्देश दिया कि विभिन्न सड़कों, चौक-चौराहों तथा हाट बाजारों में एलईडी वेन के माध्यम से सड़क सुरक्षा से संबंधित वीडियो क्लिप प्रदर्शित कर लोगों में यातायात नियमों के प्रति जागरूकता बढ़ाएं। 

       इस बैठक में डीएफओ खूँटी, जिला शिक्षा पदाधिकारी, जनसम्पर्क पदा. माकिरण मुण्डा, डीडीसी खूंटी, सिविल सर्जन डॉ प्रभात कुमार, कार्यपालक पदाधिकारी के साथ अनेक लोग उपस्थित थे।