टाटा स्टील ने नोआमुंडी में कैंप स्कूल के लिए प्रतिष्ठित सीएसआर सामुदायिक पहल पुरस्कार जीता


संतोष वर्मा। नोआमुंडी टाटा स्टील को नोआमुंडी के कैंप स्कूल में अपनी सफल शैक्षणिक पहल के लिए प्रतिष्ठित कॉर्पोरेट सोशल रिस्पॉन्सिबिलिटी (सीएसआर) पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। 27 अप्रैल, 2018 को नई दिल्ली में आयोजित सीएसआर लीडर शिप समिट के दौरान सीएसआर कम्युनिटी इनिशिएटिव इनि शएटिव अवार्ड 2017-18 में टाटा स्टील ने पुरस्कार हासिल किया। 

टाटा स्टील की तरफ से यह पुरस्कार सुश्री स्मिता अग्रवाल, हेड, एजुके शन, सीएसआर, टाटा स्टील, श्री परवेज आलम, सीनियर एक्जीक्यूटिव, टाटा स्टील रुरल डेवलपमेंट, नोआमुंडी, टाटा स्टील ने डॉ भास्कर चटर्जी, लेखक, विचरक, सेक्रेट्री जेनरल, इंडियन स्टील एसोसिए शन एवं पूर्व डीजी व सीईओ, इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ कॉर्पोरेट अफेयर्स तथा श्री रुसेन कुमार, फाउंडर व मैनेजिंग एडिटर, इंडिया सीएसआर नेटवर्क से ग्रहण किया। 

टाटा स्टील को “शिक्षा“ श्रेणी में नोआमुंडी कैंप स्कूल के लिए यह पुरस्कार मिला। 2005 में, टाटा स्टील ने गरीब और वंचित समुदाय के ड्रॉप-आउट विद्यार्थियों को मुख्यधारा की शिक्षा प्रणाली में शामिल करने के लिए नोआमुंडी में कैंप स्कूल की अवधारणा शुरू की। हर साल 100 से अधिक ड्रॉप-आउट लड़कियों का चयन किया जाता है। उन्हें 11 महीने की अवधि में शिक्षित और तैयार कर मुख्यधारा शिक्षा प्रणाली से जोड़ा जाता है। आरंभ से लेकर आज तक, नोआमुंडी कैंप स्कूल में कुल 1096 लड़कियों को शिक्षित किया गया है।

सीएसआर के तहत शिक्षा पर फोकस के बारे में बोलते हुए टाटा स्टील के चीफ सीएसआर श्री सौरव रॉय ने कहाः “हम अपने परिचालन क्षेत्रों में लोगों के सतत कल्याण के प्रति प्रतिबद्ध हैं, और मानते हैं कि लड़कियों को मुख्यधारा शिक्षा प्रणाली से जोड़ना इस प्रयास की एक प्राथमिकता है। हमारा ब्रिज स्कूली शिक्षा कार्यक्रम झारखंड और ओडिशा के ग्रामीण क्षेत्रों में स्कूल ड्रॉप-आउट की पहचान करने पर केंद्रित है और उन्हें सीखने की प्रक्रिया के साथ फिर से जुड़ने के लिए एक सुरक्षित स्थान प्रदान करता है। यह पुरस्कार उन समुदायों द्वारा हम पर किये गये विश्वास के बिना संभव नहीं होता, जिनके साथ हम काम करते हैं और हम इसके लिए उनके आभारी हैं।“

पुरस्कार प्राप्त करने पर खुशी व्यक्त करते हुए श्री मनीष मिश्रा, जीएम, ओएमक्यू डिवीजन, टाटा स्टील ने कहाः “ अपने परिचालन क्षेत्रों के आस-पास एक बेहतर समुदाय बनाने के लिए समस्याओं के समाधान और कौ शल के तालमेल से टाटा स्टील विभिन्न तरीकों से समुदाय की सेवा कर रही है। यह पुरस्कार लड़कियों के लिए शिक्षा के प्रति हमारे काम की मान्यता है और समाज के लिए एक बेहतर कल की रचना के लिए लोगों का स शक्तीकरण कर उनके अंदर के सर्वश्रेष्ठ को बाहर निकालने के लिए हमें प्रोत्साहित करता है।“

यह वार्षिक सीएसआर मंच भारत में अपने परिचालन के साथ लीडर्स और ऑर्गनाइजेशनों को सीएसआर डोमेन में किए जा रहे कार्यों के बारे में बात करने और उन्हें दर्शाने और यह समाज में कंपनी के योगदान का एक अभिन्न हिस्सा कैसे बनता है, इसे बताने का एक अद्वितीय अवसर प्रदान करता है। समिट भारत के सीएसआर कानून के पांच साल का जश्न मनाने के साथ-साथ इस गहन धारणा के साथ तैयार किया गया है कि व्यापार दायित्व में समाज को बदलने की अत्यधिक संभावना है।