मजदूरों ने भूख मिटाने एवं परिवार को भरण पोषण के लिए मजबूरी में काम करने गए मजदूर, कर लिया ऐसा काम की गँवानी पड़ गई जान.

पलामू जिले के मजदूर आंध्र प्रदेश में जे एम एम कम्पनी के सेरिया सेटिंग का काम कर रहे हैं दो  मजदूरों की मौत.नौडीहा बाजार थाना क्षेत्र के मजदूरों ने भूख मिटाने एवं परिवार को भरण पोषण के लिए मजबूरी में काम करने गए मजदूर, कर लिया ऐसा काम की गँवानी पड़ गई जान.

  • आदमी को पेट की भूख किस हद तक मजबूर कर देती है जहां दिहाड़ी पर मज़दूरी करते हैं। 

इसका एक उदाहरण देखने को मिला। मामला आंध्र प्रदेश के जे एम एम कम्पनी के एक जिले का है जहा मामला हर किसी के दिल को छू लेने वाला था। इस बाबत ग्रामीणों ने बताया कि नौडीहा थाना अंतर्गत रबदा टू गांव निवासी ( 21 वर्षीय) छोटू कुमार भुइयां, शाहपुर पंचायत, मंगराडीह गांव निवासी( 35 वर्षीय ) रघुनाथ राम की सीरिया सेंटरिंग के दीवाल से दबने पर दोनों मजदूर की मौत हो गई. इसकी जानकारी जैसे ही पास काम कर रहे लोगों को लगी तो दोनों मजदूरों को कंपनी से बाहर निकाला और आनन-फानन में उन्हें जिला अस्पताल ले गया  जहां डॉक्टर ने देखते ही उन्हें मृत घोषित कर दिया इस बाबत जैसे ही शव अपने गांव पहुंचा तो परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है। एक साथ ही दो मौतें से गांव के लोग भी सदमे में हैं।