पवित्र और सकारात्मक अन्तर्मन के लिए कथामृत पान की आवश्यकता - शुकामृत

खूँंटी : मानव सिर्फ भगवान नाम से जो स्वयं भगवान श्री कृष्ण और उनके नाम दोनों में भिन्नताओं का दर्शन हैं । इसलिए हमें सदैव हरे कृष्ण हरे कृष्ण कृष्ण कृष्ण हरे हरे हरे राम हरे राम राम राम हरे हरे की दिव्य वाणी का उच्चारण करते रहना चाहिए । यह अमृतवाणी अंतरराष्ट्रीय कृष्ण भावना मृत संघ के कृष्ण भक्त शुकामृत दास ने नगर के वार्ड नंबर 4 दतिया ग्राम में क्षेत्र के महिलाओं को कहीं ‌। उन्होंने बतलाया कि तमोगुण, रजोगुण, सतोगुण तीनों गुणों के अंतर्गत रहते हुए अपने आत्मा की पवित्रता और स्वयं के सकारात्मक भाव की उत्पत्ति के लिए कथामृत पान करना चाहिए। जिससे मानव अंतिम गंतव्य भगवान के प्रेम की प्राप्ति कर सके।इसके पूर्व नगर पंचायत क्षेत्र के वार्ड चार  दतिया ग्राम में अंतरराष्ट्रीय कृष्ण भावना मृत संघ के कृष्ण भक्त शुकामृत दास के नेतृत्व में वार्ड संकीर्तन यात्रा निकाला गया था।  यह वार्ड संकीर्तन शोभायात्रा बजरंगबली मंदिर से लालू मोहल्ला होते हुए गांधी मैदान से पुनः बजरंगबली मंदिर प्रांगण में समाप्त हुआ।इस संकीर्तन शोभायात्रा का नेतृत्व वार्ड नंबर चार के वार्ड पार्षद  सोनामती देवी एवं महिला मंडल के सदस्य सोनी देवी कर रही थी। साथ ही संकीर्तन वाणी के साथ भक्ति भाव से महिलाएं अंतरात्मा से झूम उठीं ।मौके पर दतिया क्षेत्र के सभी आम जनता ओं के बीच खिचड़ी महाप्रसाद ,भागवत ग्रंथ वितरण किया गया तथा हरी नाम की माला दी गई । महिला मंडल की सुषमा देवी, पूनम देवी लीलावती देवी , प्रचार केंद्र के विक्रम प्रभु एवं अभिषेक प्रभु आदि ने सहयोग किया।