विश्व बधिर दिवस के तहत जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन

सुनने की क्षमता में कमी वाले लोग सही क्षमता वालों से होते हैं ज़्यादा बुद्धिमान - डॉ प्रभात

खूँटी : आज सदर अस्पताल खूँटी के तत्वावधान में विश्व बधिर दिवस के तहत जिला अंतर्गत विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किये गए। इसमें जिला स्तर पर सदर अस्पताल के जागरूकता कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सिविल सर्जन खूंटी श्री प्रभात कुमार द्वारा बताया गया कि इन कार्यक्रमों का उद्देश्य बधिरों को सांत्वना देने के लिए नहीं बल्कि उनके जीवन में सही परिवर्तन लाने के लिए मनाया जाता है। ताकि बधिरों में स्वस्थ्य जीवन, स्वाभिमान, गरिमा जैसी भावनाओं को बल मिले। बधिर होना कोई अपंगता या कमज़ोरी नहीं है। बल्कि सुनने की क्षमता में कमी वाले लोग सही क्षमता वालों से ज़्यादा बुद्धिमान होते हैं। केवल अंतर इतना है कि इन लोगों के संचार का माध्यम अलग होता है। साथ ही उन्होंने बताया कि किसी की श्रवण शक्ति कम होने से संबंधित समस्या को कभी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि कान की परेशानियों से बचने के लिए कुछ सावधानियांँ आवश्यक हैं। हियरिंग से सम्बंधित परेशानी है तो तुरंत नजदीक के चिकित्सालय में चिकित्सक से संपर्क करना चाहिए।  इधर, जिले के सभी प्रखण्डों में सहियाओं द्वारा बधिर दिवस के तहत रैली निकालकर जनजागरूकता अभियान चलाया गया। इसमें क्षेत्र के लोगों को कान से सम्बन्धी परेशानियों व इनके उपाय एवं उपचार से सम्बन्धी जानकारियां प्रेषित की गई। इसके साथ ही विद्यालयों में स्कूल हेल्थ प्रोग्राम के माध्यम से विद्यार्थियों के बीच विश्व बधिर दिवस के उद्देश्यों को साझा किया गया। साथ ही कान की देखभाल एवं इससे सबंधी परेशानियों के लिए उपचार के विषय मे बताया गया।