खूँटी//ग्राम व पंचायत स्तर पर अंतिम व्यक्ति तक पानी पहुंचाने तथा वर्षा जल संचयन के लिए दी गई ट्रेनिंग

ग्राम व पंचायत स्तर पर अंतिम व्यक्ति तक पानी पहुंचाने तथा वर्षा जल संचयन के लिए दी गई ट्रेनिंग

खूँटी : स्वच्छ भारत अभियान (ग्रामीण) के तहत अड़की प्रखण्ड के किसान भवन में जिला समन्वयकों द्वारा सुजल एवं स्वच्छ गाँंव विषयक  आयोजित तीन दिवसीय कार्यशाला के दूसरे दिन मंगलवार को अड़की प्रखण्ड के लगभग 16 पंचायतों की  मुखिया, जलसहिया, पंचायत सेवक, स्कूल शिक्षक एवं स्वच्छाग्रहियों ने मुख्य रूप से नौढ़ी, सिंदरी, पुरनानगर, उपर बलालौंग एवं मदहातु पंचायत के लोग  इसमें  शामिल थे। 

         मास्टर ट्रेनर के द्वारा सुजल एवं स्वच्छ गांव के निर्माण हेतु मुखिया एवं जलसहिया की भुमिका से अवगत कराते हुए प्रत्येक गतिविधियों का पीपीटीे के माध्यम से विस्तार से बताया गया। इस दौरान माहवारी प्रबंधन, ठोस तरल अपषिष्ट प्रबंधन, प्रत्येक घरों में पेयजल की उपलब्धता, वर्षा जल संचयन के विभिन्न तरीकों एवं शौचालय के उपयोग के संबंध में विस्तृत जानकारी दी गई। 

      उपस्थित मुखियाओं द्वारा सुजल एवं स्वच्छ गांव का निर्माण एवं ग्राम व पंचायत स्तर पर अंतिम व्यक्ति तक पानी पहुंचाने का आह्वान किया गया। साथ ही स्वच्छ एवं सुन्दर खूँटी की परिकल्पना को साकार करने हेतु मास्टर ट्रेनर द्वारा कार्यशाला में प्रतिभागियों से यह अपील की गई कि संबंधित ग्राम के ग्रामीणों को भी सुजल एवं स्वच्छ गांव के सभी बिन्दुओं से अवगत कराते हुए शौचालय का उपयोग के लिए जागरूक करें। 

          कार्यशाला में मास्टर ट्रेनर जल गुणवत्ता विशेषज्ञ, जिला समन्वयक एसबीएम(जी) , परामर्शी (आईसी और एचआरडी), मुखिया, जलसहिया एवं अड़की प्रखण्ड के प्रखण्ड समन्वयक एवं सोशल मोब्लाईजर उपस्थित थे।