शर्मिला शुमि का प्रयास 'बेटी पढ़ाओ' की दिशा में ' गुरूकुलम इंटरनेशनल स्कूल' का मिला साथ

शर्मिला शुमि का प्रयास 'बेटी पढ़ाओ' की दिशा में ' गुरूकुलम इंटरनेशनल स्कूल' का मिला साथ

पलामू: गुरुकुलम इंटरनेशनल स्कूल पलामू ज़िले में निःस्वार्थ सेवा की मिशाल बन गया है। यही वजह है कि एक वर्ष के अंदर चार बच्चियों के प्राइवेट स्कूलों में दाखिले का सपना साकार हुआ। जिन बच्चियों का दाखिला हुआ वो स्लम बस्ती की वैसी बच्चियाँ हैं, जिनके लिए स्कूल यूनिफॉर्म पहनकर बस से स्कूल जाना किसी सपने से कम नहीं।  चार में से तीन बच्चियों सुमन, पायल और पूजा कुमारी को ' गुरुकुलम स्कूल',  जबकि एक बच्ची का कैंब्रिज स्कूल ने बिल्कुल मुफ्त शिक्षा देने का बीड़ा उठाया है। आकाशवाणी केंद्र की एंकर सह समाज सेविका शर्मिला शुमि ने ह्रदय से आभार व्यक्त किया है। उन्होंने श्री सतबीर सिंह (राजा भैया), डौली और स्कूल के निदेशक श्री गुरबीर सिंह (गोलू जी) को उन बच्चियों के लिये भगवान कहा है। उन्होंने कहा कि गोलू जी ने महिला दिवस ' के अवसर पर बच्चियों का दाखिला लेकर बहुत ही नेक कदम उठाया है। उन्होंने कहा कि लगातार छुट्टी के कारण एडमिशन की प्रक्रिया गुरुवार को पूरी हुई। उन्होंने गुरुकुल इंटरनेशनल स्कूल परिवार का आभार व्यक्त करते हुए कहा है कि ईमानदार प्रयास करने वालों का साथ देने वाले लोगों की इस दुनिया मे कोई कमी नहीं है।