सिंहभूम के सांसद गीता कोड़ा ने पश्चिमी सिंहभुम में बढ़ती कुपोषण पर रोक थाम के लिए स्पेशल पैकेज और आंगनबाड़ी सहिया व सेविका का मानदेय बढ़ाने को लेकर उठाई संसद में आवाज

सिंहभूम के सांसद गीता कोड़ा ने पश्चिमी सिंहभुम में बढ़ती कुपोषण पर रोक थाम के लिए स्पेशल पैकेज और आंगनबाड़ी सहिया व सेविका का मानदेय बढ़ाने को लेकर उठाई संसद में आवाज

संतोष वर्मा

चाईबासा। झारखंड प्रदेश के सिंहभूम सांसद गीता कोड़ा शुक्रवार को चल रही संसद सत्र के दौरान सदन के पटल पर कोलहान प्रमंडलीय मुख्यालय पश्चिमी सिंहभूम की सबसे बड़ी समस्या कुपोषण और आंगनबाड़ी सहिया व सेविकाओं के मानदेय बढ़ाने को लेकर केंद्र सरकार व महिला एवं बाल बिकास मंत्रालय भारत सरकार के मंत्री स्मृती ईरानी से सवाल का जबाब मांगी,हलांकि सांसद गीता कोड़ा के सवालों का जबाब नहीं दे पाई सरकार के मंत्री। सिंहभूम सांसद गीता कोड़ा ने सदन के पटल पर क्षेत्र के सबसे बड़ी समस्या कुपोषण को लेकर सवाल की कि मैं जिस प्रदेश से आती हुं सिंहभूम में कुपोषण सबसे बड़ी समस्या है और कुपोषण के कई मामले सिंहभूम में है जो सिंहभूम के लिए चिंता का विषय बना हुआ है.आज इस कुपोषण के चपेट में क्षेत्र के लोग और आदीवासी बहुल क्षेत्र के छोटे छोटे बच्चे तथा गर्भवती महिलाएं इसके चपेट में आ रहें है तो किया इस गंभीर बिमारी से निजात दिलाने के लिए कुपोषण को लेकर स्पेशल पैकेज है। साथ ही यह भी सांसद गीता कोड़ा द्वारा सदन में सरकार को अवगत कराया गया की कुपोषण के कारण आदिवासी बहुल क्षेत्र सिंहभुम में बच्चों का आकार भी छोटा होता जा रहा है।तो बतायें वहीं दुसरी ओर सांसद गीता कोड़ा ने सिंहभूम में कुपोषण जैसी बिमारी से निपटने के लिए आंगनबाड़ी में कार्यरत्त सहियाएं व सेविकाओं का मानदेय बढ़ाने पर सरकार का विचार है की नही.सिंलभूम सांसद गीता कोड़ा के सवालों का जबाब नहीं दे पाई और अन्य राज्यों के बारें में बोलनी शुरू कर दी भाफत सरकार में महिला एवं बाल विकास मंत्री।