जिले में 8 से 22 मार्च तक राष्ट्रीय पोषण पखवाड़ा ,हर घर सही पोषण का संदेश पहुंँचाने का लक्ष्य

खूँटी । पोषण पखवाड़ा के तहत सभी प्रखण्डों में विभिन्न जागरूकता कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। इसका उद्देश्य है कुपोषण मुक्त जिला के निर्माण हेतु आमजनों से सहयोग की अपील व इस दिशा में उन्हें प्रोत्साहित करना।  इसे लेकर जिले में पोषण रथ का संचालन किया जा रहा है। पोषण जागरूकता रथ से लोगों को कुपोषण की समस्या से निपटने के लिए जागरूक किया जा रहा है। पंचायत व ग्राम स्तर पर सखी मंडल की दीदियों द्वारा पोषण पखवाड़ा के तहत रैली निकालकर व सामुदायिक बैठकों के माध्यम से किशोरियों में खून की कमी की समस्या के समाधान से सम्बंधित जानकारी दी जा रही है। साथ ही इस माध्यम से लोगों को कुपोषण के प्रति, बच्चों के स्वास्थ्य की देखभाल, भोजन, लड़कियों की शिक्षा सहित अन्य महत्वपूर्ण पहलुओं के बारे में जागरूक किया गया है।राष्ट्रीय पोषण पखवाड़ा अभियान के तहत बताया गया कि अनीमिया से रोकथाम के लिए बच्चों के आयरण युक्त पौष्टिक आहार, स्वच्छता आदि जरूरी है। सही पोषण से ही देश रोशन होने की कल्पना की गयी है। कुपोषण को दूर करने में आंगनबाड़ी की मुख्य भूमिका है। इस ओर कार्य भी हो रहे हैं। आंगनबाड़ी केंद्रों में होने वाले गतिविधियों के बारे में भी जानकारी दी जा रही है।इसके साथ ही इस दौरान एनीमिया से रोकथाम, आहार, बच्चों में खून की कमी से होने वाली परेशानियों के बारे में जानकारी दी गयी। 

सही पोषण देश रौशन के तहत दिलाई गई शपथ

     पोषण पखवाड़ा के दौरान हर घर तक सही पोषण का संदेश पहुंचाने व सही पोषण का अर्थ, पौष्टिक आहार साफ पानी और सही प्रथाएं का पूर्ण पालन करने की शपथ ली गयी। पोषण अभियान को संदेश व्यापी जन आंदोलन बनाकर हर घर, हर विद्यालय, प्रत्येक गांव और शहर, में सही पोषण का नारा सार्थक करने का संकल्प लिया गया। ताकि इस आंदोलन से हर व्यक्ति और बच्चे स्वस्थ होंगे व पूरी क्षमता प्राप्त करेंगे।