घर-घर जाकर दिया सही पोषण देश रौशन का सन्देश

आंगनवाड़ी केंद्रों में सही पोषण के प्रति किया गया जागरुक

खूँटी । पूरे जिले में 8 फरवरी से 22 फरवरी तक पोषण पखवाड़ा मनाया जा रहा है। इसके तहत आज मुख्य रूप से आंगनवाड़ी सेविका व सहायिकाओं द्वारा “दरवाजा खटखटाओ” कार्यकम के तहत अपने सम्बन्धित क्षेत्र में घर- घर जाकर आमजनों को उचित पोषण की दिशा में जागरूक किया गया।साथ ही आसपास के गाँव में भी कार्यक्रम करके जन-जागरण किया गया । इसके साथ ही आंगनवाड़ी केंद्रों में होने वाले गतिविधियों के बारे में भी जानकारी दी जा रही है। कुपोषण को दूर करने में आंगनबाड़ी की मुख्य भूमिका है। इसमें बच्चों के उचित विकास और बेहतर स्वास्थ्य के लिए आवश्यक जानकारियां दी जा रही हैं।

हमने ये ठाना है , कुपोषण दूर भगाना है

इसी कड़ी में सूदूरवर्ती ग्रामीण क्षेत्रों की महिलाएँ उत्साह पूर्वक इस अभियान में भाग ले रहीं हैं। आज स्वास्थ्य के प्रति जागृति लाने का काम वहाँ की स्वास्थ्य उपकेन्द्र में एएनएम द्वारा पूर्ण आत्मविश्वास से साथ किया जा रहा है।इस स्वास्थ्य जागरूकता अभियान में पोषण के पाँच सूत्र पहले सुनहरे 1000 दिन, एनेमिया मुक्त भारत, डायरिया प्रबंधन, स्वच्छता एवं साफ सफाई, पौष्टिक आहार पर विशेष विचार- विमर्श किया गया। प्रभावशाली तरीकों से व्यवहारिक जानकारी देते हुए गर्भवती, धात्री, किशोरियों और बच्चों को जानकारी दी गई । दाल, दूध, फल, साग, हरी सब्जियाँ, अनाज दवाएँ आदि को रखकर उचित पोषाहार पर विस्तार से चर्चा की गई। ताकि बच्चों के बेहतर स्वास्थ्य की ओर कदम बढ़ाएं। इसके साथ ही गर्भवती , धात्री माताओं और किशोरियों को पोषण देने , स्तन पान के लाभ की जानकारी , बच्चों में कुपोषण दूर करने के लिए आहार सम्बन्धित जानकारी दी गई ।