कोरोना के मद्देनजर प्रसिद्ध देवी धाम में नहीं लगेगा चैती नवरात्र मेला

कोरोना के मद्देनजर प्रसिद्ध देवी धाम में नहीं लगेगा चैती नवरात्र मेला

 सौ वर्ष के दौरान पहली बार मेला नहीं लगेगा

पलामूः झारखंड सरकार के आदेश के बाद पलामू जिला के उपायुक्त शांतनु कुमार अग्रहरि ने चैती नवरात्र के मौके पर प्रसिद्ध देवी धाम में लगने वाले मेला पर रोक लगा दी है। उन्होंने देवी धााम प्रबंधन समिति के अध्यक्ष सह प्रखंड विकास पदाधिकारी राहुल देव को निर्देश दिया है। समिति के अध्यक्ष की अध्यक्षता में सदस्यों की बैठक हुई। बैठक में सभी सदस्यों ने कोरोना वायरस से संबंधित एहतियात के मद्देनजर मेला नहीं लगाने का निर्णय लिया है। उन्होंने बताया कि देवी धाम मेला में आने वाले साधु संतों ,ओझा गुणियों को फोन कर आने से मना कर दिया गया है। इसके अलावा मीडिया व अन्य माध्यमों से भी सूचना देने का काम किया जायेगा। बीडीओ सह अध्यक्ष राहुल देव ने बताया कि देवी धाम मेला के अलावा भाई बिगहा के कर्बला पर भी मेला का आयोजन नहीं किया जायेगा। उन्होंने बताया कि देवी धाम मंदिर में सुबह शाम आरती की जायेगी। आरती के बाद मंदिर के पट बंद रखे जायेंगे। इसके अलावा परिसर में लगने वाली दुकाने भी नहीं लगाई जायेगी। उन्होंने परिसर की साफ सफाई भी रखने का निर्देश समिति को दिया है। मालूम हो की देवी धाम हैदरनगर में करीब सौ वर्ष से चैती नवरात्र व शारदीय नवरात्र के मौके पर भव्य मेला लगता है। मेला में देश के कोने कोने से श्रद्धालू पहुंचते हैं। देवी धाम के इतिहास में मेला नहीं लगने का यह पहला अवसर है। मेला 25 मार्च से लगना था। मेला को लेकर श्रद्धालुओं का आना शुरू हो गया था। मंगलवार को गढ़वा जिला के मझिआंव से दो कमांडर गाड़ी में श्रद्धालू पहुंचे। उन्हें जब यह जानकारी दी गई तो वह हतप्रभ रह गये। उन्होंने मंदिर में पूजा की व घर वापस लौट गये। मझिआंव से पहुंचे श्रद्धालू षंकर परहिया ने बताया कि जब सभी दवायें बेअसर हो जाती है, तब आदमी दुआ की ओर बढ़ता है। उन्होंने कहा कि ईश्वर की जो इच्छा होगी उसे स्वीकार्य करेंगे। वह पूजा पाठ नहीं छोड़ सकते। उन्होंने कहा कि सावधानी आवश्यक है। इसका वह और उनके साथी पूरी तरह पालन करेंगे। उन्होंने कहा कि वह वापस लौट रहे हैं। बैठक में मंदिर के पुजारी सुरेंद्र नाथ त्यागी, समिति के सचिव रामाश्रय सिंह, पूर्व अध्यक्ष गुरु प्रताप शाहिदेव, कोषाध्यक्ष रविंद्र सिंह, मुखिया कमलेश सिंह के अलावा कृष्णा प्रसाद, महेंद्र दुबे, शुभम दुबे, मनान खान समेत सभी सदस्य उपस्थित थे।