कोरोना वायरस से सुरक्षा को लेकर डालसा सचिव ने किया मंडल कारा खूंटी का दौरा

आइसोलेशन वार्ड में जाँच के पश्चात् ही कैदियों को रखा जाता है अन्य कैदियों के साथ

खूँटी । विश्व भर में फैले कोरोनावायरस को लेकर खूंटी जिले में बहुत ही सावधानियांँ बरती जा रही है । इससे बचाव के लिए जिला केन्द्र से लेकर ग्रामीण क्षेत्र तक के सरकारी अधिकारी, कर्मचारी और गैर सरकारी संस्था आदि लगे हुए हैं।    इस दौरान आज मंडल कारा खूंटी में कोरोना वायरस से बचाव के लिए कैदियों के रखरखाव और स्वच्छता को ध्यान में रखते हुए प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश अभय कुमार सिन्हा के निर्देश पर डालसा सचिव निताशा बारला ने वायरस से रोकथाम के लिए सावधानियांँ हेतु निरीक्षण किया ।  डालसा सचिव ने स्वयं मंडल कारा खूंटी में जाकर कैदियों एवं उनके वार्डों को साफ सफाई की व्यवस्था का निरीक्षण की । डालसा सचिव ने जेल के अंदर स्थित अस्पताल, रसोईघर, शौचालय की साफ-सफाई के लिए किए जा रहे प्रबंध का निरीक्षण की एवं उसे संतोषजनक पायी।  कारा अधीक्षक खूंटी द्वारा यह जानकारी दी गई कि कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव हेतु कैदियों को गर्म पानी पीने के लिए दिया जा रहा है । जेल में संक्रमण से बचने के लिए कर्मचारियों एवं कैदियों के बीच मास्क का वितरण किया गया है। डालसा सचिव ने जेल के निरीक्षण के क्रम में पाया कि जेल में एक आइसोलेशन वार्ड बनाया गया है । जो कि परिसर में अन्य कैदी वार्डों एवं रसोई , शौचालय इत्यादि भवनों से दूर स्थित है ‌। इस आइसोलेशन वार्ड में नए आए कैदियों को रखा जा रहा है । इन नए आए कैदियों का चिकित्सकों द्वारा गहन परीक्षण उसी आइसोलेशन वार्ड में किया जा रहा है।  तत्पश्चात् उन कैदियों को बाकी कैदियों के साथ उनके संबंधित वार्डों में भेजा जा रहा है। यह सुनिश्चित करने के लिए बाद ही बाहर से आए उन नए कैदियों को कोरोना वायरस के लक्षण नहीं पाए जा रहे हैं । जेल प्रशासन द्वारा पहले से जेल में रह रहे कैदियों की जागरूकता हेतु स्थानीय भाषा में गीत एवं संगीत की व्यवस्था की गई है । जिसे जेल में ध्वनि विस्तारक यंत्र (साउंड सिस्टम) के माध्यम से कैदियों को जेल के अंदर बताया जा रहा है , एवं उनको कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए सफाई रखने की विस्तृत जानकारी प्रदान की जा रही है ।