पलामू: प्रेम-प्रसंग में नाबालिग की अपहरण के बाद हत्या, जंगल में दफन मिली लाश

 

पलामू, 8 मई: एक किशोरी को प्रेम करना इतना महंगा पड़ा कि इसकी कीमत उसे जान देकर चुकानी पड़ी। प्रेम-प्रसंग से नाराज लड़के के परिजनों ने ना सिर्फ लड़की की पिटायी की, बल्कि उसकी हत्या कर दी और फिर साक्ष्य छुपाने के लिए शव को सुदूरवर्ती जंगल में ले जाकर दफन कर दिया गया। कई स्तरों पर सूचना तंत्र विकसित करने के बाद पुलिस किशोरी का शव बरामद करने में सफल हुई।

कहां हुई हत्या?  

पलामू जिले के हुसैनाबाद थाना क्षेत्र अंतर्गत महुदंड पंचायत में एक नाबालिग की पीट-पीट कर हत्या कर दी गयी। उसका शव मंगलवार को महुदंड इलाके के ही हवारी जंगल से बरामद किया गया है। किशोरी की हत्या करने के बाद उसे जंगल में दफन कर दिया गया था। मामला प्रेम-प्रसंग से जुड़ा हुआ है। इस संबंध में पांच लोगों के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है। पुलिस आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापामारी में जुट गयी है। 

पांच के खिलाफ नामजद प्राथमिकी

किशोरी की हत्या के आरोप में परिजनों के बयान पर महुदंड पंचायत के नसोजमालपुर के फटिया टोला निवासी रामचन्द्र भुइयां, राजेश भुइयां, मुखलाल भुइयां, सुदेश्वर भुइयां और डोमन भुइयां के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है। सभी फरार हैं, उनकी गिरफ्तारी के लिए कई स्तरों पर कार्रवाई की जा रही है। 

पांच-छह दिनों से लापता थी किशोरी 

हुसैनाबाद के एसडीपीओ मनोज कुमार महतो ने बताया कि चार-पांच दिन पूर्व महुदंड में एक किशोरी की प्रेम-प्रसंग में शादी का विरोध करते हुए उसकी पिटायी की गयी थी। लड़की जिस लड़के से शादी करना चाहती थी, उसके परिजन इससे नाराज थे और लगातार विरोध कर रहे थे। क्यूंकि वो युवक लड़की का रिश्ते में भाई लगता था। लड़की के परिजनों ने एसडीपीओ को बताया था कि पांच दिन पूर्व गांव में किशोरी की पिटायी की गयी। बीच बचाव करने पर उसकी मां को भी पीटा गया। 

रात में हुआ अपहरण 

रात में जब किशोरी अपने घर से निकली तो उसका अपहरण कर लिया गया। सूचना के बाद छानबीन की जा रही थी कि मंगलवार को महुदंड ओपी पुलिस की मदद से किशोरी का शव बुधिया पहाड़ी  से दफन अवस्था में बरामद किया गया। हुसैनाबाद से मजिस्ट्रेट परमेश्वर कुशवाहा को घटनास्थल पर बुलाकर शव को बरामद किया गया। उसका पोस्टमार्टम कर परिजनों को सौंप दिया गया है । उसकी पहचान लापता किशोरी के रूप में की गयी। एसडीपीओ मनोज कुमार महतो ने बताया की किशोरी की माँ के लिखित आवेदन पर हुसैनाबाद थाना में प्राथमिकी दर्ज की गई है । चार लोगों को नामजद आरोपी बनाया गया है। पूरे मामले की जांच की जा रही है।आरोपियों को किसी कीमत पर बख्शा नहीं जायेगा। पुलिस द्वारा लगातार छापामारी कर राजेश भुइंया को गिरफ्तार किया गया है।