पहले धक्का मारा फिर लूटा मोबाईल व दस हजार रूपया


झपट कर पैसा लूटने वाला गिरोह के तीन अपराधी को जगन्नाथपुर पुलिस ने किया गिरफ्तार


दो फरार, दो हिरो होण्डा मोटरसाईकिल बरामद


चंपुवा से जैंतगढ़ तक दौडा कर किया अपराधियों को पकड़ा पुलिस


भास्कर न्यूज जगन्नाथपुर। झपट कर रूपया लुटने वाला जिस अपराध गिरोह के सदस्यों पकड़ने के लिए चंपुआ व घाघड़ा पुलिस परेशान है. झपट कर लोगों से रूपये लूटने वाला जिस गिरोह को काफी दिनों से तलाश है, उस गिरोह के अपराधियो को जगन्नाथपुर पुलिस नें मंगलवार को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया.ज्ञांत हो कि जगन्नाथपुर थाना क्षेत्र के जैंतगढ़ में पांच मई को हथियार के बल पर एक वेक्ती से झपट कर दस हजार रूपये छिन लेने की घटना का अंजाम दिया एवं ट्रेलर व ट्रक चालकों से रूपये लूटने  का कई घटना का अंजाम दिया गया था.वहीं इस सबंध में जगन्नाथपुर थाना में घटना को लेकर मामला दर्ज कराया गया था.घटना के बाद जगन्नाथपुर थाना प्रभारी अवधेश कुमार ठाकुर के नेतृत्व में सअनि नागेंद्र राम व अवधेश यादव के साथ विशेष छापामारी दल का गठन किया गया था.श्री ठाकुर के साथ सअनि नागेंद्र राम और अवधेश यादव ने विशेष योजना के तहत छापामारी कर गिरोह के तीन सदस्यों को गिरफ्तार किया और महज तीन दिन में मामले का उदभेदन करने में सफलता हांसिल की.हलांकि गिरोह के दो सदस्य भागने में सफल रहा.वहीं श्री ठाकुर ने कहा फरार दो अपराधी भी पुलिस के गिरफ्त में शीघ्र होगा.


क्या है मामला


पांच मई को दिन दहाड़े एक बजे गोरियाडुबा लाईन होटल के आगे पांंच अपरधकर्मी और दो मोटर साईकिल में सवार होकर बाकुड़ा से चंपुवा जा रहे थे.मोटर साईकिल सवार वादी निजाम मिदा को मोटर साउकिल को धक्का मार कर गिरा दिया तथा उनका मोबाईल एवं दस हजार रूपया झपटा मार कर छिन लिया था.


कैसे हुई घटना का उदभेदन और अपराधियों की गिरफ्तारी


मंगलवार को जगन्नाथपुर थाना प्रभारी अवधेश ठाकुर द्वारा संवाददाता सम्मेलन कर बताया गया कि घटना के बाद पुलिस इस मामले का फर्दाफाश करने के लिए विशेष छापामारी अभियान चला रखी थी.इधर पुलिस को गुप्त सुचना मिली कि पांच मई को झपटा मार कर रूपये लूटने वाले गिरोह के अपराधी क्ष्रेत्र में घुम रही है.सुचना पाते ही श्री ठाकुर के नेतृत्व में सअनि नागेंद्र राम व अवधेश यादव के सहयोग से लुट काण्ड में संलिप्त मृत्युजंय बेहरा, मधु नायक तथा पृथविराज बेहरा को गिरफ्तार कर घटना में प्रयोग किये गये दोनो मोटरसाईकिल जिसमें एक हिरो होण्डा एचएफ डीलक्स बिना नंबर का नया मोटरसाईकिल और एक हिरो होण्डा हंक जिसका नंबर or08e 1500 को जब्त किया गया.जबकी इस काण्ड के दो अभियुक्त विश्वजित उर्फ गणेश गिरि एवं शिनु दास उर्फ समिर दास भागने में सफल रहा.बताया गया समिर ईर्फ शिनु दास गोरियाडिपा सह चंपुआ का निवासी है जबकी विश्वजित छनपदा का निवासी है.जबकी गिरफ्तार मृत्युंजय बेहरा व पृथवीराज बेहरा छनपदा का रहने वाला है और मधु नायक चंपुआ का.


एसी हुई गिरफ्तारी


झपट कर रूपये लुटने वाला गिरोह के सदस्यों को पकड़ने के लिए दो दिनों से जगन्नाथपुर पुलिस जाल बिछा रखी थी.जैसे जैसे पुलिस को सुचना मिलते गई पुलिस दल भी अपराधियों तक पहुंची लेकिन अपराधियों को भनक जैसे लगा मोटरसाईकल से चंपुवा होते हुए जैंतगढ़ की और भागने लगा लेकिन पुलिस तक खदेड़ता रहा अंतः एक घटे बाद पुलिस ने तीनों को पकड़ लिया.वहीं गिरोह का मास्टर माइंड विश्वजित नें मोटर साईकिल छोड़ कर भाग निकला. गिरोह का मुख्य सरगना विश्वजित ही है.



 चंपुवा व घाघड़ा ओड़िसा पोलिस को तलाश है विश्वजित और शिनु को


झपट कर रूपया लूटना और हथियार के बल पर ट्रेलर व ट्रक चालकों से लूटने पाट करने का कई घटनाओं को अंजाम दे चुका है.लेकिन ओड़िसा पुलिस के गिरफ्त से हमेशा बच निकलने में सफला रहा है.विश्वजित कई घटना का नामजद अभियुक्त है जिसे ओड़िसा पुलिस को तलाश है.