रांची:-हेमंत सोरेन की फिसली जुबान, खुद को कहा- जंगल के शेर, तो सीएम को बताया शहर का…

*हेमंत सोरेन की फिसली जुबान, खुद को कहा- जंगल के शेर, तो सीएम को बताया शहर का…


सूबे की दो विधानसभा सीट पर होनेवाले उपचुनाव में बह रही राजनीतिक बयार में राजनेताओं की जुबान फिसलने लगी है। इसी क्रम में झारखण्ड विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष ने बिना किसी नाम लिए मुख्यमंत्री पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि वो ‘जंगल के शेर हैं शहर के कुत्ते नहीं’।हेमंत सोरेन और सुबोधकांत सहाय का बयान।दरअसल, सोमवार को पूर्व झामुमो विधायक और अपने बड़े भाई दुर्गा सोरेन की पुण्यतिथि पर माल्यार्पण के बाद सोरेन ने एक सवाल के जवाब में कहा कि सत्ता के नशे में आंखें लाल पीले करने से ताकतवर नहीं हो जायेंगे। वहीं केन्द्रीय मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुबोधकांत सहाय ने भी मुख्यमंत्री रघुवर दास पर तंज कसा है।एकसाथ हुआ विपक्ष तो छतीसगढ़ में नजर आयेंगे सीएम सुबोधकांत सहाय ने कहा कि पिछला चुनाव जब विपक्षी दलों ने अलग-अलग लड़ा तब 39 सीट विपक्षी दलों के खाते में आई थी।_ _अगर इसबार एक दो पार्टी भी साथ हुई तो सीएम छत्तीसगढ़ में नजर आयेंगे।आम लोगों के लिए कुछ नहीं कर रही है सरकार उन्होंने कहा कि पूरे घटनाक्रम को देखिये तो राज्य सरकार फुल पेज विज्ञापन दे रही है, लेकिन जो आम आदमी है उसके लिए कितना काम हो रहा है यह सब जानते हैं। इसलिए इसबार संयुक्त विपक्ष ने ठान लिया है कि इनदोनों सीट पर सत्तारूढ़ बीजेपी को हराना है। बता दें कि मौजूदा सरकार के कार्यकाल में चौथा उपचुनाव होने जा रहा है। इससे पहले गोड्डा में हुए उपचुनाव में बीजेपी के प्रत्याशी अमित मंडल जीते थे जबकि लिट्टीपाड़ा और लोहरदगा में हर उपचुनाव में क्रमशः झामुमो और कांग्रेस के साइमन मरांडी और सुखदेव भगत की जीत हुई थी।_