संतोष वर्मा। उप विकास आयुक्त श्री कमलेश्वर प्रसाद सिंह की अध्यक्षता में गुरूवार को खूले में शौच से मुक्त ग्राम पंचायतों का समाजिक अंकेक्षण से संबंधित बैठक की गई। जिसमें बताया गया कि 3 जून से अंकेक्षण का कार्य शुरू किया जायगा जिसमें नोवामुण्डी प्रखण्ड के बड़ा कासेया पंचायत में 3 से 7 जून तक, झींकपानी प्रखण्ड के जोड़ापोखर में 8 से 12 जून तक, टुंटूगुटू में 13 से 17 जून तक तांतनगर प्रखण्ड के तेन्तड़ा पंचायत में 18 से 20 जून तक, हाटगम्हरिया पंचायत के डुमरिया पंचायत में 21से 22 जून तक, सोनुआ प्रखण्ड के गोलमुण्डा पंचायत में 3 से 7 जून तक, चाईबासा के लुपुंगुटू में 8 से 12 जून तक तथा मतकमहातू में 13 से 17 जून तक, मनोहरपुर के नन्दपुर पंचायत में 18 से 22 जून तक, मंझगांव प्रखण्ड के मंझगांव पंचायत में 23 से 27 जुन तक एवं खुंटपानी प्रखण्ड के कुमिता पंचायत में 28 जून से 2 जुलाई तक अंकेक्षण का कार्य किया जायेगा। जिसे अंकेक्षण नहीं बल्कि अभियान के रूप में शुरू करने का निर्देश दिया गया। एवं संबंधित पंचायत के मुखिया को आज से ही शौच के प्रति जागरूक कराने संबंधि निर्देश दिया गया। साथ ही कहा गया कि शौचालय का प्रयोग शौच करने के लिए ही करें ना कि किसी और कार्य के लिए इसका प्रयोग करे। इस बैठक में संबंधित प्रखण्ड के बीडीओ एवं मुखिया उपस्थित थे।

संतोष वर्मा। उप विकास आयुक्त श्री कमलेश्वर प्रसाद सिंह की अध्यक्षता में गुरूवार को खूले में शौच से मुक्त ग्राम पंचायतों का समाजिक अंकेक्षण से संबंधित बैठक की गई। जिसमें बताया गया कि  3 जून से अंकेक्षण का कार्य शुरू किया जायगा जिसमें नोवामुण्डी प्रखण्ड के बड़ा कासेया पंचायत में 3 से 7 जून तक, झींकपानी प्रखण्ड के जोड़ापोखर में 8 से 12 जून तक, टुंटूगुटू में 13 से 17 जून तक  तांतनगर प्रखण्ड के तेन्तड़ा पंचायत में 18 से 20 जून तक, हाटगम्हरिया पंचायत के डुमरिया पंचायत में 21से 22 जून तक, सोनुआ प्रखण्ड के गोलमुण्डा पंचायत में 3 से 7 जून तक, चाईबासा के लुपुंगुटू  में 8 से 12 जून तक तथा  मतकमहातू में 13 से 17 जून तक, मनोहरपुर के नन्दपुर पंचायत में 18 से 22 जून तक, मंझगांव प्रखण्ड के मंझगांव पंचायत में 23 से 27 जुन तक एवं खुंटपानी प्रखण्ड के कुमिता पंचायत में 28 जून से 2 जुलाई तक अंकेक्षण का कार्य किया जायेगा। जिसे अंकेक्षण नहीं बल्कि  अभियान के रूप में शुरू करने का निर्देश दिया गया।  एवं  संबंधित पंचायत के मुखिया को आज से ही शौच के प्रति जागरूक कराने संबंधि निर्देश दिया गया। साथ ही कहा गया कि  शौचालय का प्रयोग शौच करने के लिए ही करें ना कि किसी और कार्य के लिए इसका प्रयोग करे। इस बैठक में संबंधित प्रखण्ड के बीडीओ एवं मुखिया उपस्थित थे।